17 साल की एक किशोरी ने फांसी लगाकर की खुदकुशी

क्षेत्रीय

नेवई बस्ती में 17 साल की एक किशोरी ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। खुदकुशी का कारण स्पष्ट नहीं हो पाया है। पुलिस की प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि युवती का किसी युवक के साथ प्रेम प्रसंग था। दोनों के बीच हुई किसी बात को लेकर उसने यह कदम उठाया है। पुलिस ने युवती का मोबाइल फोन जब्त कर लिया है। नेवई पुलिस मामले में मर्ग कायम कर जांच कर रही है।

पुलिस ने बताया कि जलाराम चौक नेवई बस्ती निवासी ईश्वर जांगड़े की बेटी मोना जांगड़े ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली है। शनिवार को ईश्वर जांगड़े के घर पूजा कार्यक्रम था। घर में मेहमान भी आए थे। रात में घर के बाहर सभी लोग खाना खा रहे थे। उन्होंने मोना को भी बाहर खाना खाने के लिए बुलाया। काफी देर तक जब मोना बाहर नहीं आई तो घर वाले उसे बुलाने घर के अंदर गए।

उन्होंने देखा कि घर के अंदर कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था। काफी खटखटाने के बाद भी जब अंदर से आवाज नहीं आई तो घर वालों ने खिड़की से झांककर देखा। अंदर मोना फांसी के फंदे पर झूल रही थी। इसके बाद उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पोस्टमार्टम के बाद शव को परिजनों के हवाले कर दिया गया है।

पुलिस के मुताबिक मोना के पास से उसका मोबाइल फोन जब्त किया गया है। वह उस फोन से सुपेला निवासी राजा नाम के किसी लड़के से बात करती थी। घटना के दिन भी उसकी उस लड़के से बात हुई थी। पुलिस मोना और राजा के कॉल डिटेल निकालने के साथ ही उसके मैसेज भी खंगालेगी। घर में गम का माहौल होने से पुलिस ने अभी पूछताछ शुरू नहीं की है।

मोना ने 9वीं की पढ़ाई करके स्कूल जाना बंद कर दिया था। इसके बाद वह घर पर ही रहती थी। घर में उसके अलावा एक भाई और माता पिता थे। पिता मेहनत मजदूरी करते थे तो वहीं मां गृहणी है।