ट्रेन में 55 लाख की चोरी, नांदेड़-गंगानगर एक्सप्रेस में हुई घटना

राष्ट्रीय

नांदेड़-गंगानगर एक्सप्रेस के एसी कोच में सफर कर रही महिला का सोने के सिक्कों का बैग चोरी हो गया। महिला यात्री कुछ देर के लिए सो गई थीं। आंख खुली तो बैग गायब था। बैग में रखे सिक्कों की कीमत तकरीबन 55 लाख रुपये है। ग्वालियर जीआरपी ने शून्य पर मुकदमा दर्ज करके आगरा कैंट जीआरपी थाने में भेजा है।

न्यू देवास रोड, इंदौर निवासी हिना गुप्ता व पति अमित मित्तल 12 मार्च को नांदेड़-गंगानगर एक्सप्रेस की ए-1 कोच में बर्थ नंबर एक और तीन पर सफर कर रहे थे। उन्होंने दर्ज एफआईआर में कहा है कि ट्रेन आगरा कैंट रेलवे स्टेशन से रवाना होने के बाद जब उनकी नींद खुली तो देखा कि बैग गायब था।
शौचालय में पड़ा मिला बैग

खोजने पर शौचालय में बैग पड़ा मिला लेकिन उसमें से सोने के पांच सिक्के गायब थे। इनका वजन 310 ग्राम व 31 ग्राम, अनुमानित कीमत लगभग 55 लाख रुपये है। उन्होंने घटना की जानकारी ग्वालियर जीआरपी थाने में दी। उन्होंने घटनास्थल आगरा का बताया। इसके बाद शून्य पर एफआईआर दर्ज करके आगरा भेजी गई।

आगरा कैंट जीआरपी थाने के इंस्पेक्टर देवेंद्र कुमार द्विवेदी ने बताया कि महिला ने घटना रात 1:40 से रात 3:11 बजे के बीच बताई है। इस दौरान वह सो गई थीं। जो टाइमिंग चोरी की बताई है, तब तक ट्रेन धौलपुर से आगे निकल चुकी थी। घटनास्थल आगरा का नहीं है। एफआईआर शून्य पर दर्ज करके भेजी गई है। इसकी जांच की जा रही है।

इंस्पेक्टर जीआरपी ने बताया कि नांदेड़-गंगानगर एक्सप्रेस में जीआरपी या आरपीएफ का कोई स्क्वैड तैनात नहीं है। आगरा रेल मंडल से होकर गुजरने वाली 120 ट्रेनों में आरपीएफ व जीआरपी के स्क्वैड चलते हैं