नक्सली दंपती समेत कुल 4 नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण

क्षेत्रीय

छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में नक्सल विरोधी अभियान के तहत पुलिस को लंबे समय के बाद एक बड़ी सफलता हाथ लगी है। पूना नर्कोम यानी नई सुबह अभियान से प्रभावित होकर जिले में एक नक्सली दंपती समेत कुल 4 माओवादियों ने आत्मसमर्पण किया है। इनमें से एक माओवादी पर 3 लाख रुपए तो वहीं अन्य दो पर 2-2 लाख रुपए के इनामी Le। ये सभी माओवादी पिछले कई सालों से संगठन में रहकर सक्रिय थे। इनमें से एक उत्तर बस्तर डिवीजन प्रेस टीम का कमांडर है। सभी नक्सलियों ने SP सुनील शर्मा के सामने अपने हथियार डाल दिए हैं।

जानकारी के मुताबिक, नक्सली मुचाकी सोमड़ा और मुचाकी सोमड़ी को माओवाद संगठन में रहते हुए ही प्यार हुआ। फिर दोनों ने शादी कर ली। लेकिन संगठन में रहकर अपनी जिंदगी नहीं जी पा रहे थे। इसलिए दोनों ने सरेंडर करने के फैसला लिया और सुकमा पुलिस अधीक्षक के सामने आकर दोनों ने सरेंडर कर दिया। मुचाकी सोमड़ा उत्तर बस्तर डिवीजन प्रेस टीम का कमांडर है। इसपर 3 लाख रुपए का इनाम घोषित है, जबकि इसकी पत्नी मुचाकी सोमड़ी प्रेस टीम की सदस्य है। ये दोनों पिछले कई सालों से संगठन में रहकर प्रेस नोट, बैनर , पोस्टर बनाने और चस्पा करने के कार्य किया करते थे।

पोड़ियम रमेश और माड़वी मुड़ा ने भी पूना नर्कोम अभियान से प्रभावित होकर अपने हथियार डाले हैं। ये दोनों नक्सली भी पिछले कई सालों से माओवाद संगठन में सक्रिय होकर काम कर रहे थे। माड़वी मुड़ा प्लाटून नंबर 17 सेक्शन ‘ए’ सदस्य है। वहीं पोड़ियम रमेश प्लाटून नंबर 4 का सदस्य है। इन दोनों को माओवादियों पर 2-2 लाख रुपए का इनाम घोषित है।ये दोनों माओवादी हत्या, लूट, आगजनी समेत कई बड़ी वारदातों में शामिल रहे हैं।