आत्मानंद स्कूल की प्रत्येक कक्षा में 50 विद्यार्थियों का हो सकेगा addmission, सीएम ने प्रमुख सचिव को दिए निर्देश

क्षेत्रीय

स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में प्रवेश के लिए चल रही मारामारी के बीच मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने एक राहत भरा फैसला लिया है। अब से आत्मानंद स्कूल की प्रत्येक कक्षा में 50 विद्यार्थियों का प्रवेश हो सकेगा। अभी तक यह संख्या केवल 40 तक सीमित थी।

प्रदेश भर में इस समय 172 सरकारी अंग्रेजी माध्यम स्कूल संचालित हैं। स्वामी आत्मानंद के नाम से संचालित इन स्कूलों में इस समय प्रवेश चल रहा है। लेकिन अधिकांश कक्षाओं के लिए आवेदन पत्र भी उपलब्ध नहीं है। स्वामी आत्मानंद स्कूल के पोर्टल पर स्कूल का नाम और कक्षा का विवरण डालते ही सीट रिक्त नहीं होने का संदेश मिलता है। उसके बाद आवेदन की प्रक्रिया आगे ही नहीं बढ़ती है।

पिछले कुछ दिनों से लोगों की परेशानी बढ़ गई है। अधिकांश लोग अपने बच्चों को स्वामी आत्मानंद स्कूल में पढ़ाना चाहते हैं, लेकिन स्कूलों में सीट नहीं होने से दिक्कतें बढ़ गई थीं। लोगों की मांग को देखते हुए सरकार ने सीटों की संख्या बढ़ाकर अधिकतर लोगों को प्रवेश देने का फैसला किया है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. आलोक शुक्ला से इस संबंध में बात की है। उसके बाद उन्होंने सभी कक्षाओं में 10 सीट बढ़ाने का निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा, सीट बढ़ाते समय भी गुणवत्ता सुनिश्चित की जानी चाहिए।