देश की राजधानी दिल्ली के बाद पंजाब में ऐतिहासिक जीत से गदगद आप अब छत्तीसगढ़ पर नजर

राष्ट्रीय

देश की राजधानी दिल्ली के बाद पंजाब में ऐतिहासिक जीत से गदगद आम आदमी पार्टी (आप) की नजर अब छत्तीसगढ़ पर है। ‘आप’ पार्टी राज्य में झाड़ू चलाने को बेकरार है। 2023 के विधानसभा चुनाव को देखते हुए ‘आप’ ने राज्य में सियासी जमीन तैयार करनी शुरू कर दी है। आप के प्रदेश प्रभारी संजीव झा आज छत्तीसगढ़ आ रहे हैं। 17 तारीख को राज्यसभा सांसद संदीप पाठक व दिल्ली सरकार के कैबिनेट मंत्री गोपाल राय भी आएंगे। आप भूपेश सरकार और भाजपा को कड़ी टक्कर देने खास रणनीति पर काम कर रही है।

प्रदेश सह संयोजक सूरज उपाध्याय और प्रदेश सचिव उत्तम जायसवाल ने बताया कि पार्टी का राजनीतिक कार्यक्रम तय हुआ है। 11 अप्रैल को प्रदेश प्रभारी आ रहे हैं। वे 10 दिनों तक प्रदेश के विभिन्न जिलों का दौरा करेंगे। राज्यसभा सांसद संदीप पाठक 17 अप्रैल को रायपुर पहुंचेंगे। उनके साथ छत्तीसगढ़ के चुनाव प्रभारी गोपाल राय भी आएंगे। दोनों नेता रायपुर में एक संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस करेंगे। उनकी मौजूदगी में प्रदेश की राजनीति से जुड़े कुछ बड़े नाम आम आदमी पार्टी में प्रवेश कर सकते हैं। बता दें कि राज्यसभा सांसद संदीप पाठक छत्तीसगढ़ के मूल निवासी हैं।

सांसद बनने के बाद पहली बार आ रहे पाठक
राज्यसभा सांसद बनने के बाद संदीप पाठक पहली बार छत्तीसगढ़ आ रहे हैं। 18 अप्रैल को उनके गृह जिले बिलासपुर में बाइक रैली, पद यात्रा और रोड-शो के बहाने शक्ति प्रदर्शन की तैयारी है। 19 अप्रैल को बिलासपुर में ही विधानसभा चुनाव 2023 को लेकर पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं का प्रशिक्षण होगा, जिसमें संगठन विस्तार का भी प्रशिक्षण दिया जाएगा। छत्तीसगढ़ चुनाव प्रभारी गोपाल राय और प्रदेश प्रभारी संजीव झा भी इस कार्यक्रम में शामिल होंगे।

2018 में खाता भी नहीं खोल पाई थी आप
बता दें कि साल 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में ‘आप’ ने छत्तीसगढ़ में 90 में से 85 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ा था, लेकिन पार्टी अपना खाता खोलने में कामयाब नहीं हो पाई थी। पंजाब में ऐतिहासिक जीत से उत्साहित आप नेता दावा कर रहे हैं कि वे 2023 के विधानसभा चुनावों में भाजपा और कांग्रेस दोनों को कड़ी टक्कर देंगे। 15 साल भाजपा की डॉ. रमन सरकार और अब भूपेश बघेल सरकार को देख लिए हैं। प्रदेश की जनता अब बेहतर विकल्प के रूप में आम आदमी पार्टी को देख रही है। आप ने इससे पहले 21 मार्च को रायपुर में विजय यात्रा निकाली थी।