Ambedkar Jayanti 2022: बाबासाहेब ने 1950 में ही की थी इन 2 राज्यों को बांटने की बात, लग गए 50 साल… जानें उनसे जुड़ी रोचक घटनाएं

रोचक

BR Ambedkar Jayanti 2022: 14 अप्रैल 1891. यही वो तारीख है, जिस दिन देश के संविधान निर्माता कहे जाने वाले डॉ भीमराव अंबेडकर (Dr. BR Ambedkar) का जन्म हुआ था. आज देशभर में उनकी जयंती मनाई जा रही है. डॉ अंबेडकर का जन्म मध्य प्रदेश के महू गांव में रामजी मालोजी सकपाल और भीमाबाई के घर हुआ था. वे रामजी और भीमाबाई की 14वीं (आखिरी) संतान थे. भीमराव अंबाडवेकर था, जो बाद में बाबा साहेब डॉ भीमराव अंबेडकर हो गया. बाबा साहेब का जीवन प्रेरक रहा है. आइए जानते हैं, उनके बारे में कुछ रोचक तथ्यों और उनके जीवन की कुछ रोचक घटनाओं के बारे में.

भीमराव आंबेडकर हिंदी और अंग्रेजी समेत 9 भाषाओं के जानकार थे. डॉ भीमराव के पास कुल 32 डिग्रियां थीं. 1908 में वे एलफिंस्टन कॉलेज में दाखिला लेने वाले पहले दलित थे.वे विदेश जाकर अर्थशास्त्र से पीएचडी करने वाले पहले भारतीय थे. नोबेल प्राइज विजेता अर्थशास्त्री अमर्त्य सेन भी उन्हें इस विषय में माता-पिता मानते थे.

1906 में डॉ आंबेडकर की शादी रमाबाई से हुई और तब रमा महज 9 साल की थीं. 21 वर्ष तक उन्होंने सभी धर्मों का ज्ञान ​ले लिया था. वह पेशे से वकील थे और 2 साल तक मुंबई के एक सरकारी लॉ कॉलेज में प्रिंसिपल भी रहे थे.

ये जो आजकल 8 घंटे की शिफ्ट होती है, यह बाबासाहेब की ही देन है. पहले मजदूरों को 12 से 14 घंटे तक काम करवाया जाता था. भीमराव आंबेडकर संविधान निर्माण करने वाली समिति के अध्यक्ष थे, इसलिए इन्हें संविधान निर्माता कहा जाता है.

बाबा साहेब आंबेडकर हिंदू महार जाति के थे, जिसे अछूत माना जाता था. जब उन्हें लगने लगा कि वे जातिप्रथा दूर नहीं कर सकते तो उन्होंने गुस्से में एक बात कह डाली थी. उन्होंने कहा था, “मैं हिंदू पैदा हुआ था, लेकिन हिंदू मरूंगा नहीं”. और ऐसा ही हुआ. हिंदू धर्म छोड़ते समय उन्होंने 22 वचन भरे थे. अंबेडकर ने 1956 में अपना धर्म बदलकर बौद्ध धर्म को अपना लिया, उनके साथ लाखों दलितों ने भी धर्म परिवर्तन कर लिया.

बिहार और मध्य प्रदेश के विभाजन की वकालत सबसे पहले डॉ आंबेडकर ने ही की थी. लेकिन 50 के ​दशक में उनकी बात सरकार ने नहीं सुनी. हालांकि वर्ष 2000 में इन दोनों ही राज्यों का विभाजन करना पड़ा और मध्य प्रदेश से कट कर छत्तीसगढ़, बिहार से कट कर झारखंड बनाया गया.