प्रेमी के देर से पहुचा तो नाराज होकर 17 साल की लड़की ने खुद पर केरोसीन डालकर ला ली आग

क्षेत्रीय

बिलासपुर में 17 साल की लड़की ने खुद पर केरोसीन डालकर आग लगा ली। उसे गंभीर हालत में इलाज के लिए सिम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया जा रहा है कि लड़की ने अपने प्रेमी को मिलने के लिए बुलाया था। प्रेमी के देरी से पहुंचने पर नाराज होकर उसने आत्मघाती कदम उठा लिया। खास बात यह है कि पुलिस ने बिना जांच किए उसके प्रेमी पर हत्या के प्रयास का केस दर्ज कर लिया है। जबकि, लड़की और उसके परिजन ने खुद से आग लगाने की बात कही है। घटना सीपत थाना क्षेत्र की है।

सीपत क्षेत्र में रहने वाली किशोरी 17 वर्षीय बीते शुक्रवार को अपने घर में अकेली थी। उसके माता-पिता रोजी मजदूरी करने गए थे। इस दौरान उसने अपने प्रेमी जितेंद्र जांगड़े को मिलने के लिए घर बुलाया। जितेंद्र जांजगीर-चांपा जिले के अकलतरा क्षेत्र के धनपुर में रहता है। उसके गांव से लड़के गांव दूर है, जिसके कारण वह लड़की के बुलावे पर देरी से उसके घर पहुंचा। प्रेमी के देर से पहुंचने पर लड़की नाराज हो गई और उसने अपने कपड़ों पर केरोसीन डाल लिया।

बताया जा रहा है कि वह प्रेमी जितेंद्र के आने का इंतजार करती रही। जैसी ही जितेंद्र उसके घर पहुंचा लड़की ने खुद को आग लगा ली। उसे जलते देखकर घबराए जितेंद्र ने किसी तरह आग बुझाई और आनन-फानन में लड़की को अकलतरा स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले गया। वहां से अकलतरा पुलिस को अस्पताल से सूचना दी गई और बताया गया कि लड़की को उसके प्रेमी ने आग लगाकर मारने की कोशिश की है। इस आधार पर पुलिस ने शुन्य में मामला दर्ज कर डायरी सीपत थाने में भेज दी।

इधर, रविवार को सीपत पुलिस ने जानकारी जुटाई, तब पता चला कि लड़की सिम्स अस्पताल में भर्ती है। इस पर इंस्पेक्टर राजकुमार सौरी उसका बयान दर्ज करने पहुंचे। इंस्पेक्टर राजकुमार सौरी ने बताया कि घटना के तत्काल बाद लड़की का प्रेमी उसे लेकर अकलतरा अस्पताल चला गया। इसकी प्राथमिक जांच भी अकलतरा पुलिस ने की है। इसमें पुलिस को पता चला कि प्रेमी ने ही किशोरी को आग के हवाले किया है। इसके आधार पर हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कर लिया गया। लेकिन, जब सीपत पुलिस ने लड़की और उसके परिजन का बयान दर्ज किया, तब उन्होंने बताया कि लड़की ने खुद से अपने ऊपर आग लगाई है। अब पुलिस इस मामले में कार्यपालक मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान दर्ज कराएगी।