Gorakhnath Attack मामले में बड़ा खुलासा, सीरिया के अलावा कनाडा-अमेरिका भी पैसे भेजता था आरोपी मुर्तजा

राष्ट्रीय

गोरखनाथ मंदिर में पुलिसकर्मियों पर हमला करने वाला मुर्तजा अब्बासी मुश्किलों में फंसता जा रहा है. जांच एजेंसी को उसके खिलाफ कई सबूत मिल रहे हैं. उसके खुद के कई कबूलनामे अब केस को मजबूत बनाने का काम कर रहे हैं. अब अहमद मुर्तजा की बैंक डिटेल सामने आ गई है.

बताया गया है कि मुर्तजा ने कुल तीन बैंक अकाउंट खोल रखे थे. ICICI, IDFC, First Bank और Federal Bank में उसके खाते थे. Pay pal app के जरिए उसकी तरफ से कई बार पैसे विदेश भेजे गए थे. इस सब के अलावा पिछले कुछ महीनों में आरोपी की तरफ से इस्लामिक संस्थाओं को पैसे ट्रांसफर किए गए थे. एटीएस की माने तो पिछले कुछ महीनों में मुर्तजा द्वारा इस्लामिक संस्थाओं को 22000, 700, 16594, 16622 और 22907 रुपये के ट्रांजेक्शन किए थे.

इस सब के अलावा जांच में शमीउल्लाह नाम के एक शख्स का जिक्र भी हुआ है. बताया गया है कि मुर्तजा लगातार इस शमीउल्लाह को पैसे दे रहा था. उसके खाते में वो हजारों रुपये डालता था. अब ये शमीउल्लाह कौन है, इसका मुर्तजा से क्या कनेक्शन, इसकी जांच की जा रही है. वैसे पूछताछ में मुर्तजा की तरफ से एक और बड़ा खुलासा किया गया है.

उसने बताया है कि वो सिर्फ सीरिया ही पैसे नहीं भेजता था. उसकी तरफ से कनाडा और अमेरिका में भी कुछ लोगों को पैसा दिया गया था. अब इन ट्रांजेक्शन का आतंकी गतिविधियों से क्या कोई कनेक्शन है, इस एंगल पर अभी जांच जारी है. वैसे विदेश पैसा भेजने के सवाल पर मुर्तजा ने जवाब दिया है कि जहां भी जरूरतमंद देखा मैंने भेजा पैसा था.

अभी के लिए गोपनीयता के मकसद से सुरक्षा एजेंसियों ने मुर्तज़ा के खाते और मोबाइल, आधार डिटेल को ब्लॉक करवा दिया है. वैसे अभी तक मुर्तजा के जितने भी बयान सामने आए हैं, जांच एजेंसियां मानकर चल रही हैं कि उसे रेडिक्लाइज किया गया था. जब गोरखनाथ हमले को लेकर मुर्तजा से पूछा गया था तो उसने जवाब दिया था कि मेरे दिमाग में बस यही चल रहा था, कोई काम करने के पहले आदमी उसके बारे में सोचता है, मुसलमानों के साथ गलत हो रहा है तो हमने सोचा अब कर ही दो भाई, नेपाल में भी नहीं सो पाए थे.’

इस पूरे मामले में एक हनीट्रैप वाला एंगल भी चल रहा है. मुर्तजा ने बताया है कि उसे ISIS के कैंप में फंसी लड़की के नाम पर मेल आया था. उस मेल के बाद मुर्तजा ने उस लड़की की मदद करने के लिए कुछ रुपये भी भेजे थे. बाद में लड़की ने उससे मिलने का वादा किया था. अब जांच एजेंसियों के मुताबिक यहीं से मुर्तजा का ISIS की तरफ झुकाव हुआ था और वो उस संगठन के साथ जुड़ने की तैयारी कर रहा था.