BIG NEWS : अगले सत्र से एक ही बार होगी CBSE की बोर्ड परीक्षा, सिलेबस में नहीं होगा कोई बदलाव

राष्ट्रीय

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने अगले शैक्षणिक वर्ष से सिंगल मोड एग्जाम लेने का फैसला किया है. अगले सत्र से 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा एक ही बार आयोजित की जाएगी.यानी इस बार हो रहे दो टर्म पॉलिसी को खत्म कर दिया जाएगा.

जानकारी हो कि कोरोना महामारी से पहले सीबीएसई बोर्ड परीक्षा को दो भागों में बांटने का फैसला लिया गया था. टर्म- I बोर्ड परीक्षा पिछले साल नवंबर-दिसंबर में आयोजित की गई थी, जबकि टर्म- II परीक्षा 26 अप्रैल से शुरू होने वाली है.

वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार, बोर्ड ने स्कूलों से रिप्रेजेंटेशन प्राप्त करने के बाद एकल परीक्षा पैटर्न को बहाल करने का फैसला किया है. उन्होंने कहा कि सीबीएसई ने कभी घोषणा नहीं की कि दो-टर्म परीक्षा प्रारूप अब से जारी रहेगा.

कोरोना के कारण दो टर्म में परीक्षा लेने का फैसला

अधिकारी ने कहा कि अब स्कूलों को पूरी क्षमता के साथ खोल दिया गया है, साथ ही सभी पूरी क्षमता के साथ आ रहे हैं ऐसे में एक बार ही परीक्षा लेने का निर्णय किया गया है. हालांकि सीबीएसई की तरफ से आधिकारिक कोई घोषणा नहीं की गई है लेकिन जल्द ही इस पर मुहर लगा दिया जाएगा.

पिछले साल कोरोना के कारण परीक्षाएं रद्द कर दी गई थी. छात्रों का मूल्यांकन पिछली परीक्षाओं, प्रैक्टिकल परीक्षाओं और आंतरिक मूल्यांकन में उनके अंकों के आधार पर किया गया था. वहीं सीबीएसई की सिलेबस की बात करें तो सीबीएसई पिछले दो वर्षों में अपनाई गई नीति पर कायम रहेगा.

सिलेबस में नहीं होगा कोई बदलाव

कोरोना के कारण सिलेबस को 30 प्रतिशत कम कर दिया गया था. स्कूल मौजूदा किताबों का उपयोग करके घटे हुए सिलेबस को पढ़ा सकते हैं. राष्ट्रीय शिक्षा नीति का प्रस्ताव है कि सभी छात्रों को एक शैक्षणिक वर्ष में दो मौकों पर बोर्ड परीक्षा देने की अनुमति दी जाए. एक मुख्य परीक्षा और एक सुधार के लिए.

जबकि ग्रेड X और XII के लिए बोर्ड परीक्षा जारी रहेगी. एनईपी के मुताबिक, कोचिंग कक्षाएं शुरू करने की जरूरत को समाप्त करने के लिए बोर्ड और एंट्रेंस परीक्षाओं की मौजूदा प्रणाली में सुधार किया जाएगा. वर्तमान मूल्यांकन प्रणाली के इन हानिकारक प्रभावों को दूर करने के लिए, विकास को प्रोत्साहित करने के लिए बोर्ड परीक्षाओं को फिर से डिजाइन किया जाएगा.