युवा कांग्रेस के बहुप्रतिक्षित चुनाव में बड़ा उलटफेर, भिलाई विधायक देवेंद्र यादव और युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुबोध हरितवाल ने जूनियर्स के लिए छोड़ा मैदान

क्षेत्रीय

युवा कांग्रेस के बहुप्रतिक्षित चुनाव में बड़ा उलटफेर हुआ है। भिलाई विधायक देवेंद्र यादव और युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुबोध हरितवाल ने प्रदेश अध्यक्ष का चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया है। इस निर्णय के पीछे अपेक्षाकृत जूनियर लीडरशिप को मौका देना बताया जा रहा है। इन दाेनों के हटने के बाद अंतिम रूप से 14 उम्मीदवार प्रदेश अध्यक्ष का चुनाव लड़ रहे हैं।

छत्तीसगढ़ में युवा कांग्रेस के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, महासचिव, जिला-शहर अध्यक्ष और विधानसभा अध्यक्ष के पदों पर निर्वाचन की प्रक्रिया चल रही है। इसके लिए 20 अप्रैल से 28 अप्रैल तक नामांकन की प्रक्रिया चली है। 30 अप्रैल तक इन नामों की दावेदारी पर आपत्ति करने का समय दिया गया है। दो मई को नामांकन पत्रों की जांच होगी, 5 मई को उम्मीदवारों की अंतिम सूची जारी होगी। फिलहाल 14 लोगों ने प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए नामांकन किया है।

दावेदारों में से दो महिलाएं शामिल हैं। प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए आकाश शर्मा, आशीष अवस्थी मोनू, चकेश्वर गढपाले, फलराज सिंह गजेंद्र, गुलजेब अहमद, कमलेश करम, मानस सुमन पंड्या, मोज्जसम नजर, शशि सिंह, शिवम चौधरी, सूरज कश्यप, तुकाराम, विधि नामदेव और जीशान कुरैशी ने नामांकन किया है।

युवा कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष पद के दावेदारों के नामांकन से पहले बकायदा साक्षात्कार हुआ था। उसमें देवेंद्र यादव और सुबोध हरितवाल भी दूसरे लोगों के साथ शामिल थे। बताया जा रहा है, साक्षात्कार के बाद दोनों का प्रदर्शन भी दूसरों से बेहतर पाया गया था। बाद में दावेदारों में जूनियर नेताओं की भरमार देखकर दोनों ने उनको मौका देने का फैसला किया और नामांकन से हट गए।

दावेदारों की अंतिम सूची जारी होने के बा 12 मई से 12 जून तक सदस्यता अभियान चलाया जाएगा। इसी दौरान ऑनलाइन बैलेट पेपर भेजकर वोटिंग कराई जाएगी। यह ओटीपी और दूसरे माध्यमों से सुरक्षित रहेगी। इस प्रक्रिया से इकट्‌ठा वोटों की स्क्रूटनी करने के बाद करीब एक महीने में परिणामों की घोषणा कर दी जाएगी। इस प्रक्रिया के जरिए एक प्रदेश अध्यक्ष, 8 उपाध्यक्ष, 45 महासचिव, 41 जिला-शहर अध्यक्ष और 90 विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव होना है।