तहसीलदार पर भड़कीं BJP विधायक, बोलीं आप पूरा घर गिरा देते तो पूरी तहसील में मैं आग लगा देती…देखे वीडियो

राष्ट्रीय

एक ओर जहां सीएम योगी सरकारी जमीन पर अवैध कब्जे को लेकर जीरा टॉलरेंस की नीति अपना रहे हैं. माफिया और नेता के अवैध कब्जों पर बेधड़क बुलडोजर चलवा रहे हैं. वहीं उन्हीं की बलिया विधायक केतकी सिंह का एक वीडियो सामने आया है जो अवैध कब्जा हटाने के लिए बुलडोजर लेकर आए तहसीलदार को बुरी तरह फटकार रही हैं.

दरअसल तहसीलदार ने कोर्ट के आदेश के तहत एक घर पर बुलडोजर चलाकर उसका कुछ हिस्सा गिरा दिया था. इसकी जानकारी जब विधायक को हुई तो वह अपने कार्यकर्ताओं के साथ मौके पर पहुंच गईं और तहसीलदार को बुलडोजर चलाने पर बुरी तरह अपमानित करने लगीं. मौके पर पहुंची विधायक ने तहसीलदार से कहा कि अगर आप पूरा घर गिरा देते तो पूरी तहसील में मैं आग लगा देती.

विधायक बोलीं-हमारे पास संतों की ताकत

विधायक का करीब ढाई मिनट का जो वीडियो वायरल हो रहा है उसमें वह तहसीलदार से कह रही हैं कि मैंने आपसे एक बात कही थी उसका भी सम्मान नहीं रखा आपने. इस पर जब तहसीलदार ने कहा कि पूरा सम्मान रखा गया है तो विधायक बोलीं कि सम्मान यह रखा कि आप बुलडोजर लेकर चले आए. विधायक कहा कि अगर यही सम्मान है तो मेरे लोग भी आपको यही सम्मान लौटाएंगे. आपके पास बुलडोजर की ताकत थी तो आप उसे ले आए. हमारे पास संतों की ताकत है.

कार्यकर्ता ने गालियां दीं

विधायक जब तहसीलदार को फटकार लगा रही थीं तभी उनके कथित कार्यकर्ता ने भी तहसीलदार से बेअदबी की. उसने कहा कि अगर विधायक ने रुकने के लिए कह दिया तो तहसील को रुकना पड़ेगा, नहीं तो आग लगा देंगे तहसील में. उसके बाद गालियां देते हुए तहसीलदार से लेखपाल को मौके पर बुलाने की बात करने लगा. इसके बाद कुछ और लोग लेखपाल और कानून पर 10 हजार की रिश्वत देने का आरोप लगाने लगे.

गरीब के घर नहीं चला सकते बुलडोजर

विधायक ने मीडिया को बताया कि कुछ फरियादियों ने उन्हें बताया कि उनके परदादा ने जानकारी के अभाव में सरकारी जमीन पर घर बना दिया था. शासन द्वारा जांच में पाया गया था कि उन्होंने सरकारी जमीन पर घर बनाया हुआ है. इसके बाद बिना नोटिस जारी किए हुए या कोई जानकारी दिए बिना कुछ अधिकारी बुलडोजर लेकर पहुंच गए और उसका घर गिरा दिया. जबकि हमारे सीएम का साफ कहना है कि किसी भी गरीब के घर पर उचित कारण होने पर भी बुलडोजर नहीं चला सकते.