भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‌डा हिमाचल में सीएम बदलने की अफवाह पर लगाया विराम

राष्ट्रीय

हिमाचल की सियासत में पिछले तीन-चार सालों के दौरान सरकार और संगठन को अस्थिर करने की राजनीति का नया ट्रेंड देखने को मिला है। कभी मुख्यमंत्री को हटाने तो कभी मंत्रियों, भाजपा अध्यक्ष और अनेकों बार कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष को भी बदलने की अफवाहों ने खूब सुर्खियां बटोरीं। संगठन और मंत्रिमंडल में बदलाव की चर्चा तो आम है, लेकिन इस बार मुख्यमंत्री को हटाने की चर्चा बहुत ज्यादा हुई।

लेकिन अब हिमाचल मंत्रिमंडल में बदलाव की चर्चाओं को भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्‌डा ने विराम लगा दिया है। इससे जयराम के उन वजीरों ने राहत की सांस ली है, जिन्हें बदलने की चर्चा खूब गर्म थी। इसे अच्छी परंपरा नहीं माना जा रहा है। खास बात यह है कि कई बार बड़े नेता खुद ही ऐसी चर्चाओं को हवा देते रहे हैं।

CM ने भी दिए थे बदलाव के संकेत

उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा, मणिपुर और पंजाब में चुनाव के ऐलान से पहले मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने भी रिजल्ट आने के बाद हिमाचल मंत्रिमंडल में बदलाव की बात कही थी। इससे कुछ मंत्रियों की धुकधुकी बढ़ गई थी। जब सत्तारूढ़ भाजपा की उप चुनाव में 4-0 से करारी हार हुई थी तो उस दौरान भी कई मंत्रियों के बदलने की चर्चा हुई थी।

ज्यादा चर्चा में रहे यह मंत्री

तकनीकी शिक्षा एवं जनजातीय विकास मंत्री डॉ. रामलाल मारकंडा और शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर को बदलने की ज्यादा चर्चा रही, क्योंकि दोनों मंत्री अपने-अपने विधानसभा हलके से मंडी संसदीय क्षेत्र के उप चुनाव में भाजपा प्रत्याशी खुशहाल ठाकुर को लीड नहीं दिला पाए थे।

जयराम कैबिनेट के सख्त मिजाज मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर को बदलने की चर्चा रही। उप चुनाव से पहले एक बार शिक्षकों पर कोरोना काल में मौज-मस्ती करने, वामंपथी लोगों के काम न करने के बयान, बागवान विरोधी स्टेटमेंट देने और अफसरों को फटकार के कारण महेंद्र सिंह को हटाने की चर्चा थी।

भाजपा में भी चर्चा रहीं खूब गर्म

तीन-चार सालों के दौरान भाजपा ने भी खूब सुर्खियां बटोरी हैं। पूर्व अध्यक्ष डॉ. राजीव बिंदल का नाम सैनिटाइजर घोटाले से जुड़ने के बाद कई दिनों तक चर्चाओं का बाजार गर्म रहा। हालांकि जांच में उन्हें क्लीन चिट दे दी गई, लेकिन इसके बाद फ्लां नेता नया अध्यक्ष, फ्लां का करीबी संभालेगा भाजपा की कमान, इस तरह की चर्चा हुई। इन चर्चाओं को जयराम ठाकुर के करीबी सुरेश कश्यप के अध्यक्ष बनने पर विराम जरूर लगा, लेकिन चार शून्य से उप चुनाव हार के बाद भाजपा अध्यक्ष को भी बदलने की चर्चा रही है।

कांग्रेस अध्यक्ष विरोधी खेमा ने भी खूब फैलाई अफवाहें

कांग्रेस में भी प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप राठौर को बदलने की चर्चा रही। राठौर विरोधी खेमा कई बार गुप्त पत्र बम आलाकमान को भेजकर उनकी छवि खराब कर हटाने की कोशिश करता रहा। हालांकि शुरू का कार्यकाल चुनाव के लिहाज से राठौर का अच्छा नहीं रहा, लेकिन 2021 में पहले दो नगर निगम और बाद में एक लोकसभा व तीन विधानसभा सीटों पर क्लीन स्वीप ने राठौर की साख बढ़ाई। इसलिए माना जा रहा था कि आगामी विधानसभा चुनाव तक कांग्रेस में बदलाव नहीं होगा, लेकिन दूसरा खेमा कांग्रेस अध्यक्ष को अभी भी बदलने की कोशिश जारी रखे हुए है।

मनीष सिसोदिया ने भी CM बदलने का किया था दावा

ऐसी ही एक चर्चा को दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने हवा दी थी। चार दिन पहले उन्होंने दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस करके दावा किया कि मंडी में आम आदमी पार्टी के रोड शो से घबराकर भाजपा आलाकमान मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को बदलकर अनुराग ठाकुर को CM बनाने की तैयारी में है। इन अटकलों पर भी नड्‌डा ने विराम लगा दिया है।