खरगोन में कर्फ्यू के बीच गाड़ियां में लगा दी आग, पुलिस ने 95 लोगो को गिरफ्तार गिरफ्तार

राष्ट्रीय

मध्य प्रदेश के खरगोन शहर में रामनवमी के दौरान हिंसा के बाद से लगातार कर्फ्यू जारी है. पुलिस के अनुसार बीते दिनों कुछ लोगों ने शहर के एक इलाके में चार वाहनों और एक गैरेज में आग लगा दी थी. उन्होंने बताया कि रविवार को रामनवमी के जुलूस के दौरान शुरू हुई. हिंसा के इस मामले में अब तक पुलिस ने 95 लोगों को गिरफ्तार किया है. साथ ही अन्य आरोपियों की तलाश जारी है. TOI की रिपोर्ट के मुताबिक, इस मामले में खरगोन जिले के एडिशनल एसपी नीरज चौरसिया ने बताया कि खरगोन में रविवार शाम से कर्फ्यू जारी है, वहीं, कुछ असामाजिक तत्वों ने सोमवार रात शहर के मैकेनिक नगर इलाके में तीन बसों, एक कार और एक गैरेज को आग के हवाल कर दिया था.

वहीं, एक प्रत्यक्षदर्शी ने मंगलवार को बताया कि रामनवमी का जुलूस रविवार को तालाब चौक इलाके से शुरू हुआ, जिसमें डीजे म्यूजिक सिस्टम जोर-जोर से धार्मिक गीत बजा रहा था. उन्होंने कहा कि जब जुलूस पास में स्थित एक मस्जिद को पार कर गया, तो अचानक जुलूस पर पथराव किया गया, जिसके परिणामस्वरूप हिंसा तेजी से भड़क गई.

एक अन्य प्रत्यक्षदर्शी ने कहा कि जुलूस निर्धारित समय से देरी से शुरू हुआ. उन्होंने बताया कि जुलूस तेज संगीत की आवाज के साथ जब मस्जिद के सामने से गुजरा तो किसी ने जुलूस में मौजूद लोगों पर पत्थराव कर दिया. दरअसल, ये समय नमाज अदा करने का था. पथराव के बाद स्थिति हिंसक हो गई और माहौल खराब हो गया.

इमरजेंसी सेवाओं में बाहर निकलने और मास्क लगाने की दी गई छूट
बता दें कि इस मामले में इंदौर रेंज के महानिरीक्षक राकेश गुप्ता ने कहा, ‘यह जांच का मुद्दा है कि ऐसे मेंहिंसा कैसे शुरू हुई और पहले पत्थर कहां से फेंका गया. फिलगमामला सुलझने के बाद ही पता चलेगा। हम लोगों को इसके बारे में बताएंगे. उन्होंने कहा कि हिंसा के सिलसिले में अब तक 95 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और फिलहाल स्थिति नियंत्रण मे खरगोन DM अनुग्रह पी ने कहा, “शहर में कर्फ्यू जारी है.

ऐसे में लोगों को केवल तत्काल चिकित्सा जरूरतों के लिए छूट दी गई थी.उन्होंने कहा कि कर्फ्यू के मद्देनजर खरगोन में ग्रेजुएट और पोस्ट स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों की परीक्षाएं स्थगित कर दी गई हैं. उन्होंने कहा कि दंगाइयों ने अब तक कम से कम 20 घरों और आधा दर्जन से अधिक वाहनों को आग के हवाले कर दिया है.

खरगोन हिंसा में शामिल लोगों के खिलाफ पहचान करने के लिए प्रयास जारी
इस दौरान उन्होंने कहा कि हिंसा में शामिल सभी लोगों की पहचान करने के प्रयास जारी हैं. हालांकि, इसपर प्रशासन ने पथराव में शामिल कुछ लोगों को हिरासत में लिया है. साथ ही उनसे पूछताछ की जा रही है और दुकानों और घरों सहित उनकी अवैध संपत्तियों को ध्वस्त किया जा रहा है. वहीं, सूबे के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने खरगोन के SP से भी बात की, जिन्हें रविवार को हिंसा में गोली लगी थी, और उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली.