छत्तीसगढ़ 8 साल के हिन्दू बच्चे का खतना, मां-नानी गिरफ्तार…जाने क्या है पूरा मामला

क्षेत्रीय

छत्तीसगढ़ के जशपुर में एक बार फिर धर्मांतरण का मामला गरमा गया है। अभी तक ईसाई मिशनरियों पर धर्मांतरण के आरोप लगते रहे हैं, लेकिन नया मामला मुस्लिम समुदाय का है। मेला दिखाने के बहाने 8 साल के बच्चे का अंबिकापुर ले जाकर खतना करा दिया गया। इस मामले में परिजनों ने ससुराल पक्ष के ही तीन लोगों के खिलाफ ही FIR दर्ज कराई है। जिसके बाद पुलिस ने बच्चे की मां और नानी को गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी के मुताबिक, सन्ना क्षेत्र के नगरटोली निवासी दलित युवक ने हर्राडीपा डुमरटोली निवासी एक मुस्लिम लड़की से करीब 10 साल पहले लव मैरिज की थी। दोनों के दो बच्चे 8 साल का बेटा और 6 साल की एक बेटी है। 21 नवंबर को उसका 8 साल का बेटा अपनी मां के साथ ननिहाल गया था। युवक का आरोप है कि उसके ससुराल वाले बच्चे को लेकर हर्राडीपा से आस्ता ले गए और फिर वहां से अंबिकापुर ले जाकर उसका खतना कर दिया।

बच्चे के पिता का कहना है कि खतना कराने की जानकारी उसे भी नहीं दी गई। उसे इसका पता ही नहीं चला और चोरी-छिपे यह काम किया गया। कुछ दिन पहले ही उसे इसकी जानकारी लगी। इसका पता परिवार और समाज के लोगों को लगा तो सभी कार्रवाई की मांग को लेकर सोमवार रात थाने पहुंच गए। संवेदनशील मामला होने के कारण CWC और अफसरों को सूचना दी गई। बच्चे के बयान के बाद पुलिस ने 3 लोगों पर FIR दर्ज की।

थाने के सामने ग्रामीणों ने किया था हंगामा इसकी खबर फैली तो अखिल भारतीय जनजातीय सुरक्षा मंच के संयोजक और पूर्व मंत्री गणेश राम भगत, हित रक्षा प्रमुख रामप्रकाश पाण्डेय देर रात थाने पहुंच गए। वहां काफी देर तक हंगामा चलता रहा। घटना को लेकर लोगों में काफी रोष था। एडिशनल एसपी प्रतिभा पांडेय ने बताया कि एक हिंदू युवक ने शिकायत की है कि उसकी मुस्लिम पत्नी ने उनके नाबालिग बेटे का जबरन खतना किया और उसका नाम बदलकर मुस्लिम नामकरण कर दिया।