Chhattisgarh News: छत्तीसगढ़ की 33 सड़क परियोजनाओं को मिलेगी रफ्तार, केंद्र से मिले 9 हजार करोड़ रुपये

क्षेत्रीय

Chhattisgarh News: छत्तीसगढ़ में केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने 9240 करोड़ रूपए लागत की 33 सड़क परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया है. उन्होंने रायपुर के पंडित जवाहरलाल नेहरू मेमोरियल मेडिकल कॉलेज में आयोजित में हिस्सा लिया. इस दौरान सीएम भूपेश बघेल के साथ विपक्ष के नेताओं की मौजूदगी में करोड़ो रुपए की सौगात दी है. वहीं उन्होंने राज्य में 2024 तक एक लाख करोड़ रुपए के सड़क बनाए जाने की घोषणा की है.

केंद्रीय मंत्री ने दिए चार मूलमंत्र
दरअसल, केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने छत्तीसगढ़ में विकास के फॉर्मूले की चर्चा की है. उन्होंने सभागृह में संबोधन करते हुए कहा कि देश में सर्वाधिक खनिज संपत्ति छत्तीसगढ़ में है. संपत्ति के वैल्यू एडिसन हो जाएगा तो विकास तेजी से होगा. विकास के लिए सिर्फ चार बातें महत्वपूर्ण है. इसमें वाटर, पॉवर, ट्रांसपोर्ट और कम्युनिकेशन है. उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के रोड़ अमेरीका के बराबर होंगे. उन्होंने बताया कि पहले बच्चे स्कूल में नहीं जा सकते, किसान अपने उपज शहर लेकर नहीं जाते, गांव में रोड़ बनानी चाहिए. इसलिए अटल बिहारी वाजपेई ने गांव तक सड़के बनाने के लिए कहा और प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की घोषणा की गई.

क्लियरेंस की रखी मांग
इस दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने तीन मार्गों को राष्ट्रीय राजमार्ग में जोड़ने की मांग की है. इसके अलावा पीडब्ल्यूडी मंत्री ताम्रध्वज साहू की मांगों पर भी केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने सहमति जताई है. इसके अलावा उन्होंने मंच से कहा कि विश्वास दिलाना चाहता हूं, जल्दी से जल्दी वन विभाग से क्लियरेंस करवा दें तो छत्तीसगढ़ में 2024 तक एक लाख करोड़ रुपए की सड़क बनाकर दूंगा. उन्होंने बताया कि रायपुर से विशाखापट्टनम के लिए नई सड़क बनाई जा रही है. इससे दूरी 200 किलोमीटर कम हो जाएगी. छत्तीसगढ़ की खनिज संपत्ति दुनियाभर में जाएगी. छत्तीसगढ़ के लिए विकास का पथ बनेगा, रायपुर से धनबाद तक का प्रोजेक्ट है. इसका 180 किलोमीटर का काम पूरा हो चुका है.

एथेनॉल को लेकर कही ये बात
उन्होंने कहा कि पेट्रोल की गाड़ी में 100 प्रतिशत एथेनॉल और पेट्रोल डाल सकते हैं. एथेनॉल भविष्य का किसानों का फ्यूल है. इसलिए एथेनॉल का उपयोग अगर आप करेंगे तो पेट्रोल छत्तीसगढ़ से गायब हो जाएगा. इस देश के किसान को केवल अन्नदाता नहीं उर्जादाता बनना है. देश के किसान को ऊर्जा दाता बनाइए. छत्तीसगढ़ में सरप्लस ऊर्जा है, फॉरेस्ट क्लियरेंस दें और बिजली दो रुपए यूनिट से दीजिए. आपका पूरा ट्रांसपोर्ट इलेक्ट्रिक कर दूंगा, डबल डेकर बस चल जाएगी, छत्तीसगढ़ में पहला प्रोजेक्ट दुर्ग से रायपुर का प्रोजेक्ट भी भेज दो. आपको पैसे देने की जरूरत नहीं है, गरीबों को एसी बस में घुमाएंगे.

ट्राइबल सेक्टर को लेकर क्या बोले?
ट्राइबल सेक्टर में विकास के लिए केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने बताया कि निश्चित रूप से ट्राइबल सेक्टर को ज्यादा प्राथमिकता देना है. ट्राइबल का विकास होगा तो देश का विकास होगा. आपकी मांगों को प्राथमिकता दी जाएगी. इसके अलावा उन्होंने कहा कि चार हजार का आयरन से 70 हजार रुपए का स्टील बेचते हैं. स्टील का विकल्प पैदा किया जा सकता है. इसके लिए ग्लास फाइबर विदेश से लाया गया है. ब्रिज में बनाने के समय दो पियर के बीच 30 मीटर की दूरी होती लेकिन नई स्टील फाइबर से दो पियर के बीच कई गुना ज्यादा दूरी की क्षमता होगी होगा. इससे छह हजार करोड़ का ब्रिज 650 करोड़ रुपए में बनाए जाएंगे.