Corona in China: चार हफ्ते से लॉकडाउन, चीन में शंघाई से बीजिंग तक हाहाकार, न घर में खाना-न स्टोर्स में सामान

अंतरराष्ट्रीय

कोरोना वायरस एकबार फिर वापसी कर चुका है. चीन के शंघाई से बीजिंग तक कोविड की नई लहर की वजह से हाहाकार मचा हुआ है. चीन के इन दो शहरों के साथ-साथ बाकी इलाकों में करोड़ों लोगों की मास टेस्टिंग की जाएगी. कोरोना संकट की वजह से Shanghai में चार हफ्ते से लॉकडाउन लगा हुआ है और इसका डर अब Beijing के लोगों को भी सताने लगा है, जिसकी वजह से पैनिंक बाइंग भी शुरू हो चुकी है.

सोमवार को चीन में मास टेस्टिंग शुरू हो चुकी है. मास टेस्टिंग के कुल तीन राउंड होंगे. बीजिंग शहर में पहले राउंड में करीब 35 लाख लोगों की मास्ट टेस्टिंग की गई.

मास टेस्टिंग के लिए जमा लोग
सबसे पहले बात करते हैं शंघाई की. वहां स्थिति फिलहाल चिंताजनक बनी हुई है. वहां लॉकडाउन लगे हुए 4 हफ्ते से ज्यादा का वक्त बीत चुका है. पिछले 24 घंटे में वहां 19 हजार से ज्यादा नए कोरोना मरीज मिले वहीं 51 लोगों ने कोरोना से जान गंवा दी. शंघाई में 2 करोड़ 50 लाख से ज्यादा लोग रहते हैं, जिनकी मास टेस्टिंग शुरू हो चुकी है

लॉकडाउन की वजह से घर में कैद लोगों की परेशानी अब और ज्यादा बढ़ गई है क्योंकि वहां चीजों की कमी हो गई है. सामान कोरियर करने वाली कंपनी इस वक्त मांग के हिसाब से डिलिवरी नहीं कर पा रही है.

बीजिंग के लोग डरे- शंघाई जैसे ना हो जाएं हालात

शंघाई के बाद बीजिंग में कोरोना वायरस का कहर टूटा है. वहां सोमवार को 1661 नए कोविड केस मिले हैं. इसके अलावा 15 हजार से ज्यादा ऐसे भी हैं जो बिना लक्षण वाले हैं. बीजिंग में पड़ने वाले Chaoyang की बात करें तो यहां अबतक 46 मामले मिल चुके हैं. इसकी वजह से बीजिंग रहने वाले ज्यादातर लोगों की कोरोना टेस्टिंग कराई जाएगी, जिससे लोग डर गए हैं.

बता दें कि बीजिंग की कुल जनसंख्या 2 करोड़ 10 लाख से ज्यादा बताई जाती है. कोरोना टेस्टिंग को लेकर शुरू हुए एक्शन के बाद लोग दहशत में हैं, इसकी वजह से उन्होंने पैनिंक बाइंग शुरू कर दी है. इसकी वजह से बाजार में जरूरी सामानों की कमी भी देखी जा रही है. दरअसल, लोगों को आशंका है कि वहां शंघाई जैसा सख्त लॉकडाउन लग सकता है.

यहां सब्जी, चावल, तेल, नूडल और डेली जरूरत का बाकी सामान सुपरमार्केट से गायब हो चुका है. वहीं ऑनलाइन फूड स्टोर सामान की कमी की वजह से डिलीवरी नहीं कर रहे हैं.

 

 

दुनिया की सबसे बुजुर्ग महिला केन तनाका का निधन, आखिरी सांस तक उठाया चॉकलेट का लुत्फ