श्रीलंका के राष्ट्रपति से इस्तीफा देने की मांग तेज, प्रदर्शन कर रहे 45 लोग गिरफ्तार… कई पुलिसकर्मी हुई जख्मी

अंतरराष्ट्रीय

श्रीलंका में हालात खराब होते जा रहे हैं. श्रीलंका पुलिस ने सरकार के विरोध में प्रदर्शन कर रहे 45 लोगों को गिरफ्तार किया है. ये सभी श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे के इस्तीफे की मांग करते हुए उनके आवास के बाहर जमा हुए थे जिसके बाद पुलिस ने 45 लोगों को गिरफ्तार कर लिया. कोलंबो शहर के ज्यादातर इलाकों में कुछ देर के लिए कर्फ्यू लागू कर दिया गया. देश में आर्थिक संकट है और लोग राष्ट्रपति को इसका जिम्मेदार मानते हैं. श्रीलंका में विदेशी विनिमय की कमी के कारण ईंधन, रसोई गैस जैसी आवश्यक वस्तुओं की किल्लत हो गई है.

श्रीलंका में लोगों को पेट्रोल-डीजल की कमी के साथ ही बिजली कटौती का भी सामना करना पड़ रहा है. आम जनता को दिन में 13 घंटे तक बिजली कटौती से जूझना पड़ रहा है. प्रदर्शनकारियों ने बृहस्पतिवार को राजपक्षे सरकार के विरोध में नारे लगाए और उनके इस्तीफे की मांग की. पुलिस के अनुसार, प्रदर्शन के दौरान पांच पुलिसकर्मी समेत कई लोग घायल हो गए और वाहनों को आग लगा दी गई.

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि अब तक 45 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. पांच पुलिसकर्मी घायल हो गए जबकि एक बस, एक जीप और दो मोटरसाइकिल को आग लगा दी गई. प्रदर्शनकारियों ने पुलिस के, पानी के एक ट्रक को भी क्षतिग्रस्त कर दिया. कोलंबो के अधिकतर हिस्सों और केलानिया के उपनगरीय पुलिस डिवीजन में गुरुवार आधी रात को कर्फ्यू लगा दिया गया था जिसे शुक्रवार सुबह हटा दिया गया. कुल मिलाकर देश में स्थिति काफी खराब होती जा रही है.