3 मिनट के वीडियो में Tata Group की फुल स्टोरी, कब नमक बनाने और कब प्लेन उड़ाने का फैसला…देखे

रोचक

Tata’s Journey of Firsts: भारत में कई सारे काम पहली बार टाटा कंपनी ने ही किए. इसमें स्टील प्लांट से लेकर एयरलाइंस शुरू करने तक का काम शामिल है. ऐसे ही ना जाने कितने और कामों की लिस्ट है जिसे Tata Group ने देश में पहली बार अंजाम दिया और अब इनको 3 मिनट के एक वीडियो में शेयर किया है.

टाटा समूह ने उद्योग जगत में कई ऐसे काम किए जो देश में पहली बार हुए. Tata Group के फाउंडर जमशेद जी टाटा (Jamsetji Tata) के समय से ही कंपनी इस तरह के नए-नए काम करती रही, जिसकी वजह से उन्हें भारतीय उद्योग जगत का भीष्म पितामह भी कहा जाता है. वीडियो के मुताबिक देश मे किसी कारखाने में पहली बार Humidifire और Fire Sprinkler जैसे उपकरण 1877 में टाटा समूह की Empress Mills में लगाए गए थे. इतना ही नहीं समूह ने देश में पहला इंटीग्रेटेड टाटा स्टील प्लांट 1907 में लगाया, देश की पहली सीमेंट India Cement Company 1912 में, देश में अपनी तरह का पहला इंडस्ट्रियल बैंक Tata Industrial Bank 1917 में, पहली पूर्ण भारतीय बीमा कंपनी New India Assurance Company 1919 में और पहली एयरलाइंस Tata Airlines (अब Air India) 1932 में खोली.

Tata is a Trust ये वो लाइन है जो टाटा कंपनी के चरित्र पर फिट भी बैठती है. लोगों के बीच कंपनी की ये में इमेज उसके लोगों की भलाई के लिए किए गए काम से बनी और इससे कंपनी पर लोगों का भरोसा भी बड़ा. वर्ष 1886 में खुली Empress Mill देश में मजदूरों की भलाई के लिए काम करने वाली पहली कंपनी बनी. जबकि शिक्षा के क्षेत्र में कंपनी ने 1909 में इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस को, समाज के लिए 1936 में Tata Institute of Social Sciences (TISS) और कैंसर ट्रीटमेंट के लिए Tata Memorial Hospital खोला.

टाटा ने देश में पहली बार आयोडीन वाला नमक पैकेट में बेचने का बीड़ा उठाया. इस तरह 1983 में Tata Salt बना और ये अपने तरह के इनोवेशन की मिसाल बन गया. इसी तरह कंपनी ने देश की पहली स्वदेशी एसयूवी Tata Safari 1998 में, पहली हाइड्रोजन बस Starbus 2013 में, 5-स्टार रेटिंग कार Tata Nexon 2018 में और पहली सबसे स्लिम मैकेनिकल वॉच 2021 में बनाई.