गे सेक्स रैकेट का पर्दाफाश, ऐसे होता था धंधा

राष्ट्रीय

मायानगरी मुंबई में पुलिस एक गे सेक्स रैकेट का पर्दाफाश किया है. बताया जा रहा है कि पहली बार गे सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ हुआ है. इस मामले में पुलिस ने तीन युवकों को गिरफ्तार किया है. पिछले कई महीनों से ऑनलाइन डेटिंग गे एप ‘ग्राइंडर’ के जरिए गे सेक्स रैकेट का धंधा चला रहा था. पुलिस ने बताया कि ये आरोपी लूटमार और वीडियो बनाकर भी लोगों को ब्लैकमेल कर पैसे भी ऐंठते थे.

पुलिस ने बताया कि ऐप डाउनलोड करने के बाद उसमें पूरी डिटेल्स भरी जाती थीं. उसके बाद एरिया के हिसाब से सभी समलैंगिक लड़के एक दूसरे के साथ जुड़ जाते थे. पहले बातचीत करते थे फिर मिलकर अनैतिक संबंध बनाते थे. मालवानी थाने के एसआई हसन मुलानी ने बताया कि शिकायत मिली थी कि एक व्यक्ति की पांच लोगों ने पिटाई कर उसके पास से रुपये व कार्ड छीन लिया और उसका आपत्तिजनक वीडियो भी बनाया.

पीड़ित ने पुलिस को बताया कि पैसे न देने पर आरोपियों ने उसका अश्लील वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर की धमकी दी. किसी तरह वो उनके चंगुल से निकला और पूरी घटना के बारे में परिजनों बताया. फिर इस घटना की शिकायत पुलिस में की गई. तुरंत कार्रवाई करते हुए मौके से तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया. इस शिकायत के आधार पर तीन युवकों को गिरफ्तार किया. फिर इस फिर गे सेक्स रैकेट के बारे में पता चला.

पुलिस ने बताया कि आरोपियों की पहचान इरफान फुरकान खान, अहमद फारूकी शेख व इमरान शफीक शेख के तौर पर हुई है. इनकी उम्र 24 से 26 साल के बीच है. दो आरोपी फरार है इनकी तलाश की जा रही है. पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर इस धंधे में शामिल अन्य लोगों के बारे में पता लगाने की कोशिश कर रही है.