सरकार किसी भी दल की हो, दोनों की योजनाएं चलनी चाहिए : ज्योतिरादित्य सिंधिया

क्षेत्रीय

रायपुर : केंद्रीय उड्‌डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि स्वास्थ्य सुविधा के साथ ही अन्य योजनाओं का क्रियान्वन समुचित तरीके से होना चहिए। विकास के लिए राजनीति सही नहीं है। सरकार किसी भी दल की हो, लेकिन देश और प्रदेश की ओर से चलने वाली विकास की योजनाओं को रोकना सही नहीं है। इसे सुचारू रूप से संचालित किया जाते रहना चाहिए। केंद्रीय मंत्री मंगलवार को राजनांदगांव में जिला प्रशासन की बैठक ले रहे थे।

कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में केंद्रीय मंत्री सिंधिया ने विकास कार्यों और योजनाओं की समीक्षा की। कहा कि राजनादगांव जिला आकांक्षी जिला है। ऐसे में इस जिले के समुचित विकास के लिए रणनीति बनाकर काम करना है और केंद्र की योजनाओं का विस्तार अच्छे से होना चाहिए। कुपोषण को लेकर भी केंद्रीय मंत्री सख्त दिखे। उन्होंने कहा कि कुपोषण देश के लिए कैंसर के समान है। इसे दूर करने के लिए जल्द ही योजना बना कर काम करने की जरूरत है।

प्रशासन को सुपोषण के लिए जमीनी स्तर पर काम की जरूरत

केंद्रीय मंत्री सिंधिया ने समीक्षा बैठक के दौरान कुपोषण, शिक्षा, पीएमजीएसवाई और केंद्रीय योजनाओं को लेकर कलेक्टर और अधिकारियों से चर्चा की। कहा कि सुपोषण अभियान को लेकर अभी भी जिला प्रशासन को जमीनी स्तर पर काम करने की जरूरत है। साथ ही PMGSY के तहत जिन गावों में कनेक्टिविटी नहीं हुई है, उन्हें जल्द पूरा करने के निर्देश दिए। पीएम आवास योजना को लेकर कहा कि काम संतोषजनक नहीं है और बंद पड़ा है।

टेडेसरा के BPO पहुंचे, कहा-हजारों नौजवानों का भविष्य बदलने की क्षमता

केंद्रीय मंत्री सिंधिया ने प्रवास के दौरान टेडेसरा स्थित BPO कॉल सेंटर में पहुंचे। उनके साथ पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और सांसद संतोष पांडेय भी थे। केंद्रीय मंत्री ने निरीक्षण के बाद कहा कि रमन सिंह के कार्यकाल में स्थापित BPO सेंटर एक आविष्कार है। यह हजारों नौजवानों के भविष्य को परिवर्तित करने की क्षमता रखता है। ऐसी योजनाओं से हमारे छत्तीसगढ़ के नौजवानों को अपने भविष्य को बनाने के लिए ऊर्जा मिलेगी।

कलेक्टर ने बताया 300 से हुई थी शुरुआत, अब 1000 युवा

केंद्र सरकार के स्टार्टअप योजना के अंतर्गत इस BPO सेंटर की स्थापना की गई है। केंद्रीय मंत्री सिंधिया ने वहां कार्यरत युवाओं से चर्चा की। इस दौरान कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा ने बताया कि 300 युवाओं से शुरू किए गए इस सेंटर में अभी 1000 से अधिक युवा कार्यरत हैं। जिन्हें प्रतिमाह 1 करोड़ रुपए का भुगतान किया जा रहा है। केंद्रीय मंत्री ने यहां किए जा रहे कार्यों की समीक्षा की और युवाओं को मिल रहे रोजगार के अवसर पर संतुष्टि जाहिर की है।