‘घायल नागिन, घायल शेरनी और अपमानित स्त्री से हमेशा डरना चाहिए”, बीजेपी नेता श्वेता सिंह ने मौत से पहले FB पर लिखी थी यह पोस्ट

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश के बांदा में बीजेपी नेता और जिला पंचायत सदस्य श्वेता सिंह गौर की संदिग्ध मौत से पूरे इलाके में हड़कंप मच गया है. दरअसल श्वेता सिंह का शव उनके घर में पंखे से लटका हुआ मिला है. फिलहाल मौत की वजह पारिवारिक कलह बताई जा रही है. दरअसल बताया जा रहा है कि श्वेता सिंह के पति दीपक सिंह गौर से कुछ समय से अनबन चल रही थी. वह इस घटना के बाद से नदारद हैं. उनका फोन भी बंद आ रहा है. आपको बता दें कि उनके पति दीपक सिंह भी बीजेपी नेता है. घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस की टीम मौके पर पहुंच गई और जांच पड़ताल में जुट गई है.

घायल नागिन, घायल शेरनी और अपमानित स्त्री से हमेशा डरना चाहिए
आपको बता दें कि बीजेपी नेता श्वेता सिंह ने अपने मौत के पहले बीती रात फेसबुक पोस्ट पर लिखा कि ‘घायल नागिन, घायल शेरनी और अपमानित स्त्री से हमेशा डरना चाहिए’. दरअसल यह पूरा मामला कोतवाली क्षेत्र के इंदिरा नगर मोहल्ले का है. घटना की जानकारी मिलने के बाद आनन फानन में जिला अस्पताल पहुंचाया लेकिन अस्पताल में डॉक्टरों ने श्वेता को देखते ही मृत घोषित कर दिया जिसके बाद पुलिस ने श्वेता के परिजनों को सूचित कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

पुलिस ने शुरू की जांच पड़ताल
इस मामले में बांदा के पुलिस अधीक्षक अभिनंदन का कहना है कि हम लोगों को सूचना मिथी कि जिला पंचायत सदस्य श्वेता सिंह ने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है. मौके का पूरा मुआयना किया गया श्वेता के कमरे की कुंडी अंदर से लगी हुई थी. कुंडी तोड़कर जब अंदर दाखिल हुए तो श्वेता का शव पंखे से लटकता हुआ मिला. शव को नीचे उतार कर अस्पताल भिजवाया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया. पुलिस ने बताया कि श्वेता और उनके पति के बीच काफी दिनों से विवाद चल रहा था जिसको लेकर कई बार मायके और ससुराल पक्ष के लोगों के बीच बातचीत भी हो चुकी है और घटना वाले दिन भी पति-पत्नी के बीच विवाद हुआ था . वहीं श्वेता के पति दीपक सिंह मौके से फरार हैं.

वहीं श्वेता सिंह की बहन करिश्मा ने स्वेता के पति दीपक सिंह पर आरोप लगाते हुए कहा कि वह श्वेता को परेशान करता था जिसके चलते मैं दुखी रहती थी इन सब बातों से इतना तो तय है कि दोनों के बीच सब कुछ ठीक नहीं था. लेकिन मौत कैसे हुई इसके इस बारे में फिलहाल अभी मामले की जांच चल रही है जांच के बाद ही पूरी सच्चाई सामने आएगी.

 

 

धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटवाने के योगी के एक्शन से खुश हुए राज ठाकरे, tweet कर कहा…