टास्कफोर्स की बैठक में अवैध रेत उत्खनन के विरूद्ध सख्त कार्रवाई के निर्देश

क्षेत्रीय

गरियाबंद : मुख्यमंत्री ने अवैध रेत उत्खनन करने वालों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। इसी कड़ी में आज जिला स्तरीय टास्कफोर्स समिति की बैठक आयोजित की गई। जिसमें कलेक्टर नम्रता गांधी ने कहा कि जिले में अवैध रेत उत्खनन एवं अवैध भण्डारण पाये जाने पर सख्त कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने कहा कि राजस्व, पुलिस, माईनिंग और फॉरेस्ट द्वारा संयुक्त टीम बनाकर कार्रवाई की जाए। ऐसे संभावित क्षेत्रों की पहचान की जाए, जहां अवैध रेत उत्खनन और भण्डारण की संभावना हो। मशीनों और जेसीबी से उत्खनन पर कार्रवाई की जाए। कलेक्टर ने स्पष्ट किया कि विभागीय कार्यो में लगे वाहनों में विभाग का नाम और वर्क ऑर्डर चस्पा किया जाए। बिना सूचना और वर्क ऑर्डर के परिवहन करने वाले वाहनों पर भी कार्रवाई की जायेगी। जिले में चिन्हांकित स्थानों पर माईनिंग चेकपोस्ट बनाया जाए। कलेक्टर ने कहा कि रात्रि में गश्त करने के दौरान पर्याप्त पुलिस बल की व्यवस्था हो। अवैध उत्खनन पर कार्रवाई नही होने पर जिले के अधिकारियों की जिम्मेदारी तय की जाएगी और उनके विरुद्ध कड़ी अनुशासनात्मक कार्रवाई होगी।

उन्होंने कहा कि इन कार्यों में संलिप्त लोगों के विरूद्ध राजस्व, पुलिस, माईनिंग द्वारा अलग-अलग प्रकरण तैयार किए जाए। परिवहन के लिए प्रयुक्त वाहनों को जप्त करने की कार्रवाई भी की जाए। बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री जे.आर.ठाकुर ने कहा कि रात्रि गश्त के दौरान पर्याप्त मात्रा में पुलिस बल टीम मेें शामिल रहेगी। एसडीओ एवं टी.आई भी टीम का हिस्सा रहेंगे। जिला पंचायत के सीईओ रोक्तिमा यादव ने कहा कि जिन पंचायतों में निर्माण कार्य जारी है। उनकी लिस्ट बनाकर टीम को दी जायेगी। ताकि शासकीय कार्यो में रूकावट न आये। बैठक में सभी अनुविभागीय अधिकारियों को अनिवार्यतः प्रकरण तैयार करने के निर्देश दिये गये है। बैठक में सहायक खनि अधिकारी फागू लाल नागेश ने बताया कि जिले में फर्शी पत्थर के 41, साधारण पत्थर के 3 और चिमनी भट्ठा के 01 खदान स्वीकृत है। साथ ही वर्तमान में 11 क्रियाशील रेत खदान है। वहीं वर्ष 2021-22 में विभाग द्वारा अवैध परिवहन के 141 प्रकरण, अवैध उत्खनन के 13 एवं अवैध भण्डारण के 01 प्रकरण दर्ज कर कार्रवाई की गई है। जिससे कुल 39 लाख 4 हजार 780 रूपये राजस्व वसूली की गई है। बैठक में उदंती सीतानदी टाइगर रिजर्व के उपनिदेश श्री आयुष जैन, अपर कलेक्टर श्री जे.आर. चौरसिया, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री चन्द्रेश ठाकुर, एसडीएम श्री विश्वदीप, डिप्टी कलेक्टर सुश्री चांदनी कंवर, सभी एसडीएम एवं जनपद सीईओ मौजूद थे।