जिग्नेश मेवानी का बड़ा हमला, कहा- मुझे साजिश के तहत खत्म करने की कोशिश

राष्ट्रीय

Jignesh Mevani PC: असम पुलिस द्वारा गिरफ्तारी के मुद्दे पर गुजरात के निर्दलीय विधायक जिग्नेश मेवानी ने कांग्रेस दफ्तर में प्रेस कॉन्फ्रेंस की. यहां उन्होंने केंद्र सरकार की जमकर आलोचना करते हुए कहा कि मुझे बर्बाद करने के लिए साजिश रची गई थी. वो मुझे साथ ले गए लेकिन केस के बारे में कुछ बताया तक नहीं. मैं एक वकील भी हूं लेकिन मेरे ऊपर कौन सी धारा लगाई गई इसकी मुझे जानकारी तक नहीं दी गई. यहां तक कि मेरे घरवालों से भी मुझे बात करने नहीं दी गई.

उन्होंने कहा कि एक विधायक होने के नाते मेरा फोन पर बात करने का हक था लेकिन उन्होंने मुझे बात तक नहीं करने दी. यहां तक की उन लोगों ने गुजरात विधानसभा के स्पीकर को भी इस बात की जानकारी नहीं दी.

56 इंच की कायरता

जिग्नेश मेवानी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सीधा हमला करते हुए कहा कि जब मुझे जमानत मिली तो इसके बाद एक महिला से फर्जी मुकदमा लगावाया गया. ये 56 इंच की कायरता है. असम की अदालत ने इस एफआईआर को फर्जी करार दिया है और पुलिस पर गंभीर सवाल खड़े किए हैं. 19 तारीख को मेरे खिलाफ एफआईआर दर्ज हुई और तुरंत ही असम पुलिस 2500 किमी से मुझे गिरफ्तार करने गुजरात पहुंच जाती है. मुझे पकड़ते वक्त आतंकवादी को गिरफ्तार करने जैसा माहौल बनाया गया. मेरे और मेरी टीम के कम्प्यूटर, मोबाइल जब्त किए, मुझे शक है कि उसमें जासूसी के सॉफ्टवेयर डाल दिए गए हों.

PMO में बैठे गोडसे के भक्तों ने कराई FIR

जिग्नेश मेवानी ने मोदी सरकार पर बड़ा हमला करते हुए कहा है कि प्रधानमंत्री कार्यालय में बैठे नाथूराम गोडसे के भक्तों ने उन पर फर्जी एफआईआर करवाई है. अगर गोडसे भक्त कहने पर आपत्ति थी तो लालकिले पर खड़े होकर गोडसे मुर्दाबाद का नारा लगाकर दिखाएं. गुजरात में चुनाव होने वाले हैं इसलिए परेशान किया जा रहा है. पहले रोहित वेमुला को आत्महत्या करने पर मजबूर किया अब मुझे खत्म करना चाहते हैं. दलित नेताओं को पीएम मोदी हजम नहीं कर पा रहे हैं.

गुजरात कांग्रेस उतरेगी सड़कों पर

जिग्नेश मेवानी ने कहा है कि अगर युवाओं पर किए गए आंदोलन वाले मुकदमे वापस नहीं हुए, पेपर लीक मामले में, ड्रग्स मामले में, रेप के मामले में कार्रवाई नहीं हुई तो 1 जून को गुजरात कांग्रेस सड़क पर उतरेगी, गुजरात बंद किया जाएगा.