83 वर्ष की उम्र में कथक डांस सम्राट पंडित बिरजू महाराज निधन, पीएम ने दी श्रद्धांजलि

राष्ट्रीय

विश्वभर में प्रसिद्ध कथक डांस के सम्राट पंडित बिरजू महाराज का 83 साल की उम्र में निधन हो गया. हार्ट अटैक के बाद रविवार देर रात उन्होंने दिल्ली में आखिरी सांस ली. बिरजू महाराज का असली नाम बृजमोहन मिश्रा था. उनका जन्म 4 फरवरी, 1938 को लखनऊ में हुआ था. प्रधानमंत्री नरेंद्र नोदी ने उन्हें श्रद्धांजलि दी है.

महाराज की पोती ने बताया कि महाराज-जी परिवार और शिष्यों से घिरे हुए थे और वे रात के खाने के बाद ‘अंताक्षरी’ खेल रहे थे कि अचानक उनकी तबीयत खराब हो गई. वे गुर्दे की बीमारी से पीड़ित थे और उनका डायलिसिस उपचार चल रहा था. उनकी पोती ने कहा कि संभवत: कार्डियक अरेस्ट से उनकी मृत्यु हो गई. हालांकि, हम उन्हें तुरंत अस्पताल ले गए लेकिन हम उसे बचा नहीं सके.

पंडित बिरजू महाराज गुरु, नर्तक, कोरियोग्राफर, गायक और कंपोजर थे. वे तालवाद्य बजाते थे, कविता लिखते थे और चित्रकारी भी करते थे. उनके शिष्य जाने-माने कलाकार हैं और दुनियाभर में फैले हैं.

पीएम मोदी मे दी श्रद्धांजलि

महाराज को कई बड़ी शख्सियतों ने श्रद्धांजलि दी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्विटर पर लिखा- भारतीय नृत्य कला को विश्वभर में विशिष्ट पहचान दिलाने वाले पंडित बिरजू महाराज जी के निधन से अत्यंत दुख हुआ है. उनका जाना संपूर्ण कला जगत के लिए एक अपूरणीय क्षति है. शोक की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिजनों और प्रशंसकों के साथ हैं. ओम शांति!

वहीं राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने लिखा- महान पंडित बिरजू महाराज का निधन एक युग के अंत का प्रतीक है. यह भारतीय संगीत और सांस्कृतिक स्थान में एक गहरा शून्य छोड़ देता है. वह कथक को विश्व स्तर पर लोकप्रिय बनाने में अद्वितीय योगदान देकर एक प्रतीक बन गए. उनके परिवार और प्रशंसकों के प्रति संवेदना.

गौरतलब है कि पद्म विभूषण से सम्मानित बिरजू महाराज ने बॉलीवुड की कई फिल्मों में भी डांस कोरियोग्राफ किया. जिसमें उमराव जान, डेढ़ इश्कियां, बाजीराव मस्तानी जैसी फिल्में शामिल हैं. पद्म विभूषण के अलावा उन्हें संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार और कालिदास सम्मान भी मिल चुका है.