महाराष्ट्र की महिला ने रायपुर पुलिस को भेजी चिट्ठी कालीचरण पर लगाये यह गंभीर आरोप

क्षेत्रीय

रायपुर की जेल में बंद महाराष्ट्र के संत कालीचरण पर ढोंगी होने का आरोप लगा है। रायपुर पुलिस के पास महाराष्ट्र की ही एक शादीशुदा महिला ने चिट्ठी भेजकर कालीचरण के बारे में कई चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। महिला ने कुछ सबूत भी रायपुर की पुलिस को भेजे हैं। महिला की चिट्ठी में एक महिला भक्त से कालीचरण के संबंध होने, लोगों से परेशानी दूर करने के नाम पर वसूली करने, महिला भक्तों को प्रभावित कर उनसे करीबी बढ़ाने जैसी बातों का जिक्र है।

ये चिट्‌ठी महिला ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री, रायपुर SSP को भेजी है। इस चिट्ठी की एक प्रति देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को भी भेजकर कार्रवाई की मांग की गई है।

रायपुर पुलिस ने महिला के नाम को गुप्त रखा है। इस चिट्ठी में महिला ने लिखा है कि- कालीचरण महाराज कोई संत नहीं बल्कि गेरुआ वस्त्र पहने हुए एक ढोंगी है। कालीचरण अपने आपको काली माता का सेवक कहता है लेकिन वास्तव में वह एक भोगी विलासी व्यक्ति है। जिसका एक मात्र धर्म सिर्फ दुखी लोगों की मदद करने के नाम पर उनसे धन प्राप्त करना और उनका दोहन करना है।

महिला ने लिखा है कि- वैवाहिक जीवन में परेशानी की वजह से जून 2021 में वह अकोला में कालीचरण महाराज की संपर्क में आई, इसके बाद कालीचरण महाराज के पीए ईश्वरानंद महाराज के कहने पर उन्होंने कालीचरण महाराज को 5 हजार देकर संपर्क किया। जीवन में आ रही तकलीफों के बारे में इसके बाद कालीचरण ने ऑडियो मैसेज भेजकर उपाय बताए। इसी तरह महिला से उपाय बताने के नाम पर कालीचरण महाराज और उसके पीए ईश्वरानंद ने कुल 25 हजार लिए महिला ने यह रकम पेटीएम के जरिए भेजी थी। महिला की दिलचस्पी कालीचरण में बढ़ी, तो उसने कालीचरण के दूसरे शिष्यों से कालीचरण के बारे में जानकारी जुटाना शुरू कर दिया।

उस औरत ने अपनी चिट्ठी में लिखा है कि कालीचरण लोगों से तभी मिलता या बात करता था जब लोग उन्हें पैसे दिया करते थे। कालीचरण सामान्य जीवन जीने वाला कोई संत नहीं था, बल्कि पूरे ऐशो आराम से अपनी जिंदगी बिता रहा था। कालीचरण का दिल्ली में रहने वाली एक महिला से संबंध है जो खुद कालीचरण की भक्त भी है।

महिला का दावा है कि लोगों से रुपए लेने और महिला से संबंध के बारे में उसने कालीचरण से पूछताछ की। तब कालीचरण ने कहा कि जीवन बिना धन के बिता पाना संभव नहीं है। इसके बाद कालीचरण ने अपने वॉट्सऐप चैट दिखाए जिसमें महिला भक्त के साथ आपत्तिजनक बातें की गई थीं। अचानक कालीचरण के वॉशरूम जाने पर महिला ने कालीचरण का फोन चेक किया जिसमें चैट के हिस्से में आई लव यू लिखा हुआ था।

वॉशरूम से लौटने पर कालीचरण ने कहा कि लोग उनका आशीर्वाद लेने के लिए तरसते हैं। मोबाइल में कालीचरण ने एक तस्वीर भी महिला को दिखाई जिसमें उनका पीए ईश्वरानंद एक कम उम्र की लड़की के साथ नजर आ रहा था । कालीचरण ने कहा कि बड़े-बड़े डॉक्टर, इंजीनियर, मैनेजर पद की महिलाएं उनका सानिध्य प्राप्त करने के लिए ईश्वरानंद से जुड़कर रहती हैं। अब रायपुर की पुलिस को ये जानकारी देकर महिला ने अपने रुपए वापस मांगे हैं और कालीचरण के खिलाफ इस मामले में कार्रवाई की मांग की है।