सांसद ने शेयर की तस्वीर, यूक्रेन की लड़कियों का रेप और हत्या कर रहे रूसी सैनिक, शवों पर बना रहे स्वास्तिक के जलते निशान

अंतरराष्ट्रीय

रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध अब भी जारी है. दोनों ही पक्षों की तरफ से तमाम हैरान करने वाले दावे किए जा रहे हैं. कुछ दावे ऐसे हैं, जिनकी पुष्टि नहीं की जा सकती. अब यूक्रेन की संसद की सदस्य लीजिया वासिलेंक ने आरोप लगाया है कि रूसी सैनिक लड़कियों का रेप कर उनकी हत्या कर रहे हैं. उनके शव पर जले हुए स्वास्तिक के आकार के निशान मिल रहे हैं. सोमवार को ट्वीट करते हुए यूक्रेन की महिला सांसद ने कहा कि रूस के सैनिक 10 साल तक की बच्चियों का रेप कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि सैनिक यहां लूटपाट मचा रहे हैं और हत्या कर रहे हैं.

लीजिया ने अपने एक ट्वीट में लिखा है, ‘रूस के सैनिक लूटपाट, रेप और हत्या कर रहे हैं. 10 साल की लड़कियों के साथ तक ऐसा हो रहा है. महिलाओं के शरीर पर स्वास्तिक के आकार वाले जलने के निशान मिल रहे हैं. रूस. रूसी पुरुषों ने ये सब किया है. और रूसी मांओं ने उन्हें बड़ा किया है. अनैतिक अपराधियों का देश.’ अपने एक अन्य ट्वीट में उन्होंने जलाकर बनाए गए निशान की तस्वीर शेयर करते हुए लिखा है, ‘महिला का बलात्कार और हत्या हुई है, शरीर पर प्रताड़ना के निशान हैं. मेरे पास शब्द नहीं हैं. मेरा दिमाग गुस्से, डर और नफरत की वजह से काम नहीं कर रहा.’

लिबरल होलोस पार्टी की नेता हैं लीजिया
लीजिया वासिलेंक यूक्रेन की लिबरल होलोस पार्टी की नेता हैं. जो अपने ट्विटर पोस्ट के जरिए लगातार हैरान कर देने वाले दावे कर रही हैं. रूस को लेकर ये दावे ऐसे वक्त पर किए गए हैं, जब उसपर युद्ध अपराध और नरसंहार के आरोप लग रहे हैं. इस वक्त दुनिया के तमाम देश बूचा शहर में हुई घटना के चलते रूस पर भड़के हुए हैं. यहां 300 से अधिक आम लोगों को काफी बेरहमी से मारा गया है. जगह-जगह प्रताड़ित कर मारे गए लोगों के शव और जल्दबाजी में खोदी गई कब्र मिली हैं.

बूचा पर रूसी सेना ने किया था कब्जा
बूचा शहर पहले रूस के कब्जे में था, जब उसकी सेना यहां से पीछे हटी तब यूक्रेन की सेना आई, और उसे ये खौफनाक मंजर देखने को मिला. ये जगह राजधानी कीव के पास स्थित है. ऐसी रिपोर्ट्स हैं कि रूसी सैनिक आम लोगों को प्रताड़ित कर रहे हैं, उनकी हत्या कर रहे हैं और महिलाओं के साथ रेप कर रहे हैं. इन खबरों के जवाब में क्रेमलिन (रूस के राष्ट्रपति के कार्यालय) की तरफ से जवाब आया है. जिसने सभी आरोपों को खारिज कर दिया है. यूरोपीय आयोग की प्रमुख उर्सुला वॉन डेर लेयेन ने कहा कि यूरोपीय संघ संभावित युद्ध अपराधों के सबूत इकट्ठा करने के लिए जांचकर्ताओं की एक टीम भेजने के लिए तैयार है.