अब मध्य प्रदेश में इस जगह का नाम बदलने की तैयारी

राष्ट्रीय

भोपालः मध्य प्रदेश के एक और शहर का नाम बदलने की तैयारी चल रही है. जिसे लेकर सियासत शुरू हो गई है. बता दें कि सीहोर जिले के नसरुल्लागंज का नाम बदलने की मांग हो रही है. जिस पर कांग्रेस ने निशाना साधा है. कांग्रेस नेता जीतू पटवारी ने कहा कि विकास होता है तो बदलना चाहिए. वहीं बीजेपी ने कहा है कि सरकार मुगलों के प्रतीकों को खत्म कर रही है.

कांग्रेस नेता और पूर्व मंत्री जीतू पटवारी ने नसरुल्लागंज का नाम बदलने की चर्चाओं पर तंज कसते हुए कहा कि सरकार नाम बदल कर नाम करना चाहती है. काम से नाम करना नहीं चाहते हैं. जीतू पटवारी ने आरोप लगाया कि देश को बेच दिया. नाम बदलने से नसरुल्लागंज का विकास होता है तो नाम बदलना चाहिए. उन्होंने सवाल किया कि जिन शहरों का नाम बदला क्या उन शहरों का विकास हुआ?

वहीं कांग्रेस के आरोपों पर भाजपा विधायक रामेश्वर शर्मा ने तगड़ा पलटवार किया है. उन्होंने कहा कि सरकार मुगलों के प्रतीकों को खत्म कर रही है. नसरुल्लागंज के स्थानीय लोगों की मांग थी कि नाम बदला जाए. जिस पर मुख्यमंत्री ने निर्णय लिया है. भाजपा विधायक ने कहा कि कांग्रेस के लोग मुगलों के ताबीज पहनकर पैदा हुए हैं. ऐसे नामों से कांग्रेस को मोह है लेकिन हमारी सरकार सड़क पानी बिजली और विकास के साथ ही मुगलों के प्रतीकों को भी खत्म कर रही है.

भाजपा विधायक ने कहा कि देखते जाइए और क्या-क्या बदलता है. नसरुल्लागंज का प्राचीन नाम भैरूंदा रहा है.