मीट शॉप बंद करवाने के फैसले पर महुआ मोइत्रा ने किया रिएक्ट कहा ‘जब मेरा मन, मैं मीट खा सकती हूं…

राष्ट्रीय

दिल्ली के एक हिस्से में नवरात्रि तक मीट की दुकानों को बंद करने का फरमान सुनाया गया है. इस आदेश का पालन न करनेवालों से फाइन वसूला जाएगा. साउथ दिल्ली म्युनिसिपल कॉरपोरेशन के मेयर मुकेश सू्र्यान ने सीएम अरविंद केजरीवाल से 9 दिनों तक शराब की बिक्री पर भी रोक लगाने का आग्रह किया है. इसके बाद इस मामले को लेकर सोशल मीडिया पर बहस छिड़ गई है.

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने ट्विट कर इस मामले पर तंज किया. लिखा- रमजान के दौरान हम (मुसलमान) सूर्योदय से लेकर सूर्यास्त के बीच खाना नहीं खाते हैं. अगर इस दौरान हम सभी नॉन-मुस्लिम निवासियों और टूरिस्टों को पब्लिक में खाने से ही बैन कर दें. तो मेरे हिसाब से ये भी ठीक रहेगा. खासतौर से उन इलाकों में जहां मुसलमानों की आबादी ज्यादा है. अगर साउथ दिल्ली में बहुसंख्यकवाद सही है, तो जम्मू-कश्मीर में भी इसे सही माना जाना चाहिए.

वहीं टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा ने मीट शॉप बंद करवाने के फैसले पर कहा- मैं साउथ दिल्ली में रहती हूं. संविधान मुझे मेरे मन के हिसाब से मीट खाने की इजाजत देती है और दुकानदारों को अपना कारोबार चलाने की आजादी देती है. फुलस्टॉप.

दरअसल, साउथ दिल्ली म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन के मेयर मुकेश सू्र्यान ने कहा था कि नवरात्रि के समय दिल्ली के 99 फीसदी घरों में प्याज और लहसून भी नहीं बनता है. इसलिए हमने फैसला किया है कि इस दौरान साउथ एमसीडी में कोई भी मीट शॉप खुले नहीं रहेंगे.

इसका उल्लंघन करने पर फाइन देना होगा. मैंने सीएम को भी चिट्ठी लिखकर मांग की है कि नवरात्रि तक के लिए शराब से डिस्काउंट बंद किया जाए. और अगर संभव है तो 9 दिनों के लिए शराब की दुकानों को ही बंद करवा दिया जाए.