दिल्ली के सभी प्राइवेट दफ्तर पूरी तरह बंद करने का आदेश

राष्ट्रीय

दिल्ली में कोरोना के बढ़ते संकट को ध्यान में रखते हुए सख्ती बढ़ाई गई है. अब दिल्ली के सभी प्राइवेट दफ्तर पूरी तरह बंद करने का आदेश आया है. सभी कर्मचारी वर्क फ्रॉम होम करेंगे. दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी ने यह आदेश दिया है. अभी प्राइवेट दफ़्तर 50% क्षमता पर चल रहे थे और 50 फीसदी स्टाफ ऑफिस जाता था.

DDMA ने और सख्त पाबंदियां भी लागू की हैं. आदेश के तहत दिल्ली में सभी रेस्टोरेंट और बार भी बंद किए गए हैं. अब रेस्टोरेंट से फूड आइटम की होम डिलीवरी और टेकअवे की सुविधा रहेगी. अबतक रेस्टोरेंट और बार भी 50% क्षमता के साथ खुले हुए थे. दफ्तरों की बात करें तो सिर्फ Exempted Category/Essential Services के प्राइवेट दफ्तरों को इस नियम से छूट होगी.

दिल्ली में कोविड संक्रमण की रोकथाम के लिए पहले ही काफी सख्ती की गई है. इसमें नाइट कर्फ्यू के बाद वीकेंड कर्फ्यू भी लगाया गया था. लेकिन इसका ठोस परिणाम देखने को फिलहाल नहीं मिला है.

बता दें कि देश और राजधानी दिल्ली में भी लगातार कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं. भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 1,68,063 नए मामले आए हैं और 277 लोगों की कोरोना से मौत हुई है. यह आंकड़ा सोमवार के मुकाबले थोड़ा कम जरूर है लेकिन स्थिति अब भी चिंताजनक है.

राजधानी दिल्ली की बात करें तो सोमवार को 19166 नए कोविड मामले सामने आए थे और 17 मरीजों की मौत हुई थी. दिल्ली में संक्रमण दर 25 फीसदी पहुंच गई है, यहां टेस्ट करवाने वाला हर चौथा व्यक्ति कोरोना संक्रमित मिल रहा है. संक्रमण दर 5 मई 2021 के बाद सबसे ज्यादा है.

दिल्ली की ही तरह महाराष्ट्र और वहां की राजधानी मुंबई की स्थिति चिंताजनक है. महाराष्ट्र में सोमवार को कोरोना के 33,470 नए मामले सामने आए और 8 लोगों की मौत हुई. इसमें से 13,648 मामले सिर्फ मुंबई में मिले थे. वहां 5 लोगों ने कोरोना से जान गंवाई.

 

 

छत्तीसगढ़ चुनाव आयोग ने पदयात्रा, रैली, आमसभा और जुलूस पर लगाया प्रतिबंध