गुजरात के राजकुमार की बॉडी देख चौंक जाते हैं लोग, जीते हैं लग्जरी लाइफ

राष्ट्रीय

भारत, राजा-महाराजाओं का देश रहा है. हम सभी बचपन से ही राजा-महाराजाओं की कहानियों में सुनते आ रहे हैं, कि उनका रुतबा और रहन-सहन कैसा हुआ करता था. आज हम आपको एक ऐसे ही राजकुमार के बारे में बता रहे हैं, जो काफी हैंडसम और फिटनेस फ्रीक हैं. इन्हें देखकर कोई भी अंदाजा लगा सकता है, कि देश के राजा-महाराजाओं का रुतबा कैसा रहा करता होगा. अच्छी कद-काठी और बॉडी वाले इन राजकुमार का नाम है, कुंवर जयवीरराज सिंह गोहिल , जो गुजरात के भावनगर में गोहिल वंश के राजा विजयराज सिंह के बेटे हैं.

Exclusive: गुजरात के राजकुमार की बॉडी देख चौंक जाते हैं लोग! जिम जाने वालों  को दी ये नसीहत - Gujarat Bhavnagar Prince Jaiveerraj Singh Gohil Fitness  Secret Diet and Desi Workout tlif -

कुंवर जयवीरराज फिटनेस को काफी महत्व देते हैं और वे देसी एक्सरसाइज और डाइट से ही अपने आपको तंदरुस्त बनाए हुए हैं. मीडिया से बात करते हुए कुंवर जयवीरराज सिंह ने अपनी देसी डाइट, वर्कआउट के साथ देसी एक्सरसाइज करने के लिए टिप्स भी दिए. जो लोग जिम नहीं जा पाते या फिर किसी कारण से अपने शरीर पर अधिक ध्यान नहीं दे पाते, वे लोग भी देसी एक्सरसाइज को करके भी फिट रह सकते हैं.

भावनगर के युवराज जयवीरराज सिंह गोहिल काफी फेमस हैं. वे काफी फैशनेबल हैं, फिटनेस फ्रीक हैं, जो अपनी सेहत पर काफी ध्यान देते हैं. उन्हें करीब 10-11 साल फिटनेस फील्ड में हो चुके हैं. इस कारण उन्हें फिटनेस की काफी अच्छी नॉलेज है.

कुंवर जयवीरराज सिंह ने बताया कि जब वे पढ़ाई के लिए देश से बाहर गए थे, तब से ही उन्हें फिट रहने का शौक लग चुका था, इसके पहले वे कभी-कभार साधारण एक्सरसाइज कर लिया करते थे. विदेश में उन्होंने एक्सरसाइज की शुरुआत मॉडर्न एक्सरसाइज यानी जिम (Gym) से ही की थी.

इसके बाद जब पढ़ाई के बाद वे वापस इंडिया लौटे तो एक बार वे भावनगर के पास सीहोर नाम की जगह पर गए. वहां पर उन्होंने एक काफी पुरानी फोटो देखी, जिसमें 2 पहलवान दंगल कर रहे थे. उस फोटो को देखकर उन्होंने देसी एक्सरसाइज करने का फैसला किया.

Exclusive: गुजरात के राजकुमार की बॉडी देख चौंक जाते हैं लोग! जिम जाने वालों  को दी ये नसीहत - Gujarat Bhavnagar Prince Jaiveerraj Singh Gohil Fitness  Secret Diet and Desi Workout tlif -

वे अपने पिताजी को भी मुकदल से एक्सरसाइज करते हुए देखा करते थे. घर आकर उन्होंने भी मुदगर / मुदगल एक्सरसाइज करना शुरू किया, तो वे 4 किलो के मुकदल भी नहीं घुमा पाए. जबकि जिम में वे 200 किलो डेडलिफ्ट, 150 किलो स्क्वॉट कर लिया करते थे.

बस उस दिन से उन्हें दोनों तरह की एक्सरसाइज के बीच अंतर समझ आया, कि मॉडर्न एक्सरसाइज की अपेक्षा देसी एक्सरसाइज करना काफी मुश्किल है. इसके बाद से उन्होंने देसी एक्सरसाइज का रुख किया और वे आज भी रोजाना देसी एक्सरसाइज को ही अधिक महत्व देते हैं. अगर मन होता है तो कभी जिम में भी चले जाते हैं. उनके बाइसेप्स का साइज 19 इंच है, जो देसी एक्सरसाइज की ही देन है.

देसी एक्सरसाइज करने का फायदा लंबे समय तक चलता है. यानी कि अगर आप बूढ़े भी हो जाएंगे, तब भी आपका शरीर तंदरुस्त बना रहेगा. वहीं अगर जिम की एक्सरसाइज की बात करें तो आप 15 दिन जिम मत जाइए, आपको अपने खुद ही समझ आ जाएगा, कि आपका शरीर ढीला पड़ चुका है.

मैं जिम की एक्सरसाइज को बुरा नहीं कह रहा हूं, मैं बस यह कह रहा हूं, कि आज के समय में हर किसी को अपने शरीर की नींव, देसी एक्सरसाइज से बनानी चाहिए, जो कि काफी मजबूत रहती है और हमेशा काम आती है.

कुंवर जयवीरराज सिंह ने बताया, वे पिछले 4 साल पहले तक कैलोरी काउंट करके खाना खाया करता था, लेकिन उसके बाद से सिर्फ अच्छे खाने और एक्सरसाइज करने पर ही विश्वास करते हैं. इसके अलावा वे डाइट में प्रोटीन की मात्रा का ख्याल रखते हैं, ताकि उनके शरीर को पर्याप्त मात्रा में मसल्स बनाने के लिए प्रोटीन मिलता रहे. उनकी रोजाना की डाइट इस प्रकार रहती है.