खैरागढ़ को जिला बनाने की चुनावी घोषणा पर सियासी संग्राम शुरू

क्षेत्रीय

छत्‍तीसगढ़ में खैरागढ़ विधानसभा सीट पर उपचुनाव में कांग्रेस उम्मीदवार की जीत के साथ खैरागढ़ को जिला बनाने की चुनावी घोषणा पर सियासी संग्राम शुरू हो गया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कांग्रेस के घोषणा पत्र को ट्वीट किया, जिस पर पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने पिछले विधानसभा चुनाव के समय के उनके वादों को याद दिलाया। मुख्यमंत्री बघेल ने उपचुनाव के तीन चुनावी वादों को ट्वीट किया। उन्होंने कहा कि चुनाव जीतने के 24 घंटों के भीतर खैरागढ़-छुईखदान-गंडई जिला बनाया जाएगा। साल्हेवारा को पूर्ण तहसील और जालाबांधा को उपतहसील बनाया जाएगा। खैरागढ़ में दिवंगत विधायक देवव्रत सिंह की आदमकद प्रतिमा लगेगी।

मुख्यमंत्री बघेल के ट्वीट को टैग करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने पिछले सवा तीन साल में खैरागढ़, छुईखदान, गंडई में एक रुपये का निर्माण नहीं कराया। अब शराबबंदी, बेरोजगारी भत्ता और बकाया बोनस देने की तरह ही 24 घंटे में जिला बना देंगे? देवव्रत सिंह जब कांग्रेस में थे, तब प्रताड़ित किया, अब उनकी प्रतिमा बनाने की बात कर रहे हैं

डा. सिंह के इस ट्वीट पर मुख्यमंत्री बघेल ने फिर पलटवार किया। उन्होंने कहा कि डाक्टर साहब! आप शायद भूल रहे हैं कि यह नवा छत्तीसगढ़ है, जो झुकेगा नहीं, रुकेगा नहीं। यहां दो घंटे में किसानों का कर्ज माफ होता है। आदिवासियों की जमीन वापस होती है। फिर 24 घंटे तो बहुत हैं, आप बस देखते जाएं। जिला भी बनेगा, बनकर रहेगा।

मुख्यमंत्री जवाब दें, क्यों पूरे नहीं हुए वादे : डा. रमन

भाजपा कार्यालय एकात्म परिसर में शुक्रवार दोपहर पत्रकारवार्ता में पूर्व मुख्यमंत्री डा. सिंह ने कहा कि कांग्रेस नेता कहते हैं कि वह दो घंटे में वादे पूरे कर देंगे। कांग्रेस सरकार बने 29 हजार घंटे से भी अधिक का वक्त बीत चुका है। छत्तीसगढ़ के बेरोजगार पूछ रहे हैं कि बेरोजगारी भत्ता कहां है। महिलाएं पूछ रही हैं कि तीन सालों में शराबबंदी नहीं हुई, तो फिर यह दो घंटे का फार्मूला कहां से निकाल रहे हैं। कांग्रेस ने जनता से किए वादे क्यों पूरे नहीं किए, मुख्यमंत्री को इसका जवाब देना चाहिए। उन्होंने कहा कि देशभर में पहला राज्य छत्तीसगढ़ है, जहां उपचुनाव के लिए अलग से घोषणा पत्र कांग्रेस ने जारी किया है।

जनता और लोकतंत्र का कर रहे अपमान: चंद्राकर

मुख्यमंत्री बघेल के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर ने कहा कि मुख्यमंत्री जी, अब कांग्रेस पार्टी ब्लैकमेलिंग भी करने लगी। यदि खैरागढ़ हारेंगे तो जिला नहीं बनेगा? यह तो खैरागढ़ की जनता और लोकतंत्र दोनों का अपमान है। आप और आपकी पार्टी आत्मविश्वास और आत्मसम्मान दोनों खो चुकी है।

घोषणा पत्र से भाजपा में बेचैनी: कांग्रेस

प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के अध्यक्ष सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि खैरागढ़ उपचुनाव में कांग्रेस के घोषणा पत्र से भारतीय जनता पार्टी में बेचैनी और भगदड़ की स्थिति बन गई है। घोषणा पत्र जारी होने के बाद से ही भाजपा समर्पण की मुद्रा में आ गई है। खैरागढ़ की जनता कांग्रेस के घोषणा पत्र को गंभीरता से ले रही है। उसे मालूम है कि कांग्रेस जो कहती है, वह करती है।