अध्यात्म से जुड़ेंगे कैदी, शांति के लिए बजेंगे महामृत्युंजय और गायत्री मंत्र

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश की जेलों में अब से महामृत्युंजय और गायत्री मंत्र बजाए जाएंगे. योगी सरकार की तरफ से कैदियों की मानसिक शांति के लिए यह नया प्रयास किया जा रहा है. जेल एवं होमगार्ड राज्य मंत्री धर्मवीर प्रजापति ने सर्किट हाउस में कहा कि कैदियों के लिए संतों के उपदेश होंगे. इस पहल का लक्ष्य कैदियों में सकारात्मक सोच पैदा करना है ताकि जब वो जेल से रिहा हों तो एक अच्छे इंसान बनकर बाहर जाएं.

जेलों में हर दिन 5 से 10 मिनट तक कैदियों के बीच गायत्री मंत्र और महामृत्युंजय जाप किया जाएगा. मंत्री धर्मवीर प्रजापति ने आगरा में मीडिया से हुई बातचीत में साफ कहा कि जेल में गायत्री मंत्र और महामृत्युंजय मंत्र का जाप करने के निर्देश दिए गए हैं. साथ ही जेल प्रशासन से यह भी कहा गया है कि समय-समय पर जेल में संतों महंतों के प्रवचन भी कराए जाएंगे.

मंत्री धर्मवीर प्रजापति ने कहा कि जेल में बंद लोगों ने अपराध किया है. ऐसे में अगर जेल में गायत्री मंत्र और महामृत्युंजय मंत्र का जाप किया जाएगा तो कैदियों का पाप बोध कम होगा और उनके विचारों बदलाव आएगा. साथ ही उन्होंने कहा कि संतों और महंतों के प्रवचन से लोगों के विचार बदलते हैं, लोगों में सद्भावना आती है. जेल में अगर संतो महंतों के प्रवचन होंगे तो जेल में बंद कैदियों की भावनाएं भी बदलेगी.