जयपुर में पकड़ा गया साइको किलर, 50 से अधिक लड़कियों से संबंध, रेप के बाद बेरहमी से मर्डर, दिल दहला देगी कहानी

राष्ट्रीय

जयपुर के करधनी थाना इलाके में 2 महीने पहले हुई एक युवती की हत्या के मामले में पुलिस ने हत्या करने वाले आरोपी को भिवाड़ी से गिरफ्तार कर लिया. पकड़े गए आरोपी से चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं. युवती की हत्या उसके प्रेमी मिंटू उर्फ विक्रम ने की थी. मिंटू इससे पहले भी ग्वालियर में अपनी प्रेमिका को मारकर रेल की पटरियों पर फेंक चुका है. इसके अलावा अलवर में भी उसके खिलाफ एक नाबालिग लड़की ने रेप का मुकदमा दर्ज कराया है. यह सेक्स एडिक्ट है, जो 50 से ज्यादा लड़कियों से अब तक संबंध बना चुका है.

आरोपी मिंटू भिवाड़ी में अपनी पहचान बदल कर रह रहा था. एक वारदात के करने के बाद यह दूसरे शहर में चला जाता था. कहीं इनकम टैक्स अफसर तो कहीं आर्मी ऑफिसर और तो कहीं पुलिसवाला बनकर रहता था. ग्वालियर वाली लड़की भी अपनी बहन के यहां आई थी, जिसे ये भगा कर ले गया था. आरोपी मिंटू ने शादी की जिद करने पर ग्वालियर और जयपुर वाली लड़की को मार डाला. यह अपने परिवार से कोई रिश्ता नहीं रखता था.

पुलिस को शक है कि यह और भी लड़कियों के साथ वारदात को अंजाम दिया होगा. जिसकी वजह से इसकी पूरी जांच की जा रही है. आरोपी मिंटू मानसिक रूप से साइको लग रहा, जिसकी वजह से मामले में साइक्लोजिस्ट की भी मदद ली जा रही है. भिवाड़ी में भी यह नाम बदल कर पुलिस वाला बनकर रह रहा था.

बताया गया है कि जयपुर में मिंटू और रौशनी लिव इन रिलेशनशिप में रहते थे. उसकी मुलाकात मिंटू से एक होटल में हुई थी. होटल की यह मुलाकात दोस्ती में बदल गई और उसके बाद दोनों में प्यार हो गया. दोनों कुछ समय के लिए उत्तर प्रदेश हरदोई चले गए. लेकिन उसके बाद मिंटू और रौशनी वापस राजस्थान आ गए और करधनी के आर्मी नगर में रहने लगे. मिंटू रौशनी को वेश्यावृत्ति का काम नहीं करने और रात में नौकरी नहीं करने के लिए मना करता था. रौशनी ने वेश्यावृत्ति का काम नहीं छोड़ा तो मिंटू ने तकिए से गला दबा कर उसकी हत्या कर दी और उसके बाद यहां से फरार हो गया.

हालांकि, आरोपी ने पड़ोसी को फोन कर रौशनी से बात करने का बहाना भी बनाया. पुलिस आरोपी की 2 महीने से तलाश कर रही थी. मुखबीर से पुलिस को आरोपी के अलवर के भिवाड़ी में होने की सूचना मिली थी. सूचना के बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया.
पुलिस की जांच में सामने आया है कि आरोपी खुद को आर्मी ऑफिसर और इनकम टैक्स अधिकारी भी बताता था. आरोपी ने इनकम टैक्स अधिकारी और आर्मी की ड्रेस में फोटो भी खींच रखे हैं. इसके चलते वह लोगों पर अपना रुतबा जमा करा था.

आरोपी मिंटू अलवर के एक गैंगरेप के मामले में पिछले 3 साल से भी फरार चल रहा था. आरोपी ने ग्वालियर में भी अपने एक साथी के साथ मिलकर एक लड़की की हत्या कर उसकी डेड बॉडी फेंक दी थी. जांच के दौरान सामने आया है कि आरोपी अबतक 50 से ज्यादा युवतियों को अपने झूठे प्रेम जाल में फंसा कर उनको अपना शिकार बना चुका है. पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है. बता दें कि आर्मी नगर में 23 फरवरी को मिंटू में रौशनी की हत्या कर दी थी.