धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकर हटवाने के योगी के एक्शन से खुश हुए राज ठाकरे, tweet कर कहा…

राष्ट्रीय

मुंबई : महाराष्ट्र में लाउडस्पीकर हटाने को लेकर अभी तक कोई सकारात्मक पहल नहीं हो सकी है, लेकिन उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के कड़े एक्शन का असर दिखने लगा है। इसे लेकर महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) के अध्यक्ष राज ठाकरे (Raj Thackeray) ने एक tweet के जरिये तारीफ की है। राज ठाकरे ने लिखा कि धार्मिक स्थलों, खासकर मस्जिदों से लाउडस्पीकर हटाने के लिए वो योगी सरकार को तहे दिल से बधाई देते हैं और उनके आभारी हैं।

राज ठाकरे ने दे रखा है अल्टीमेटम
राज ठाकरे ने राज्य सरकार को आगाह किया हुआ है कि अगर मस्जिदों के लाउडस्पीकर नहीं हटाए गए, तो वह लाउडस्पीकर पर हनुमान चालीसा का पाठ करेंगे। वे ऐसा कर भी चुके हैं। राज ठाकरे ने देश के हिंदुओं से एकजुट होने का आह्वान किया है। राज ठाकरे कह चुके हैं कि अगर तीन मई तक सभी मस्जिदों से लाउडस्पीकर नहीं हटाए तो वह खुद इसे हटाने का काम करेंगे।

यूपी में धार्मिक स्थलों से हटाए गए 11000 लाउडस्पीकर
बता दें कि योगी के कड़े निर्देश के बाद पिछले कुछ दिनों में उत्तरप्रदेश के धार्मिक स्थलों से करीब 11 हजार लाउडस्पीकर हटा दिए गए हैं। 35 हजार से अधिक लाउडस्पीकर की आवाज कम कर दी गई है। यूपी के अतिरिक्त महानिदेशक (कानून और व्यवस्था) प्रशांत कुमार के मुताबिक, धार्मिक स्थलों से लाउडस्पीकरों को हटाने और उनकी आवाज को स्वीकार्य स्तर के भीतर निर्धारित करने के लिए राज्यव्यापी अभियान चलाया जा रहा है। 10,923 लाउडस्पीकरों को हटा दिया गया था और 35,221 अन्य की आवाज को अब तक स्वीकार्य सीमा तक कम कर दिया गया है। पिछले दिनों समीक्षा बैठक में योगी ने ऐसा करने के निर्देश दिए थे।

महाराष्ट्र में लाउडस्पीकर लगाने से पहले लेनी होगी अनुमति
राज ठाकरे की चेतावनी के बीच महाराष्ट्र सरकार के गृह विभाग ने बड़ा फैसला लिया था। इसके तहत अब किसी भी धार्मिक स्थल पर बिना अनुमति लाउडस्पीकर नहीं लगाया जा सकेगा। हालांकि यहां कुछ नए विवाद भी हैं। जैसे- नासिक सीपी दीपक पांडे ने पिछले दिनों कहा था- हनुमान चालीसा या भजन बजाने के लिए अनुमति लेनी पड़ती है। अज़ान से पहले और बाद में 15 मिनट के भीतर इसकी अनुमति नहीं होगी। मस्जिद के 100 मीटर के दायरे में इसकी इजाज़त नहीं होगी। इस आदेश का उद्देश्य कानून-व्यवस्था बनाए रखना है। सभी धार्मिक स्थलों को 3 मई तक लाउडस्पीकर के उपयोग की अनुमति लेने का निर्देश दिया जा चुका है।