Ram Navami 2022 Violence: रामनवमी पर 7 राज्यों में हिंसा, 1 की मौत

राष्ट्रीय

Ram Navami 2022 Violence: भगवान राम के जन्मोत्सव रामनवमी के मौके पर 7 राज्यों गुजरात, मध्य प्रदेश, पश्चिम बंगाल, झारखंड, राजस्थान, गोवा और कर्नाटक में हिंसा भड़क गई। लगभग सभी स्थानों पर एक जैसा घटनाक्रम देखने को मिला कि राम नवमी के जुलूस के दौरान पत्थरबाजी की गई। पुलिस ने मोर्चा संभाला तो उन पर भी हमला करने की कोशिश की गई। गुजरात में एक शख्स की मौत हो गई, वहीं मध्य प्रदेश के खरगोन में कर्फ्यू लगाना पड़ा है। सभी स्थानों के सीसीटीवी वीडियो खंगाले जा रहे हैं और आरोपियों को पकड़ने की कोशिश की जा रही है। अधिकांश स्थानों पर कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है। राम नवमी पर हुई हिंसा की घटनाओं पर राजनीति भी शुरू हो गई है।

गुजरात: खंभात में दो समुदायों के बीच हाथापाई के बाद 65 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि एक अन्य व्यक्ति घायल हो गया। समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार, दोनों समूह आपस में भिड़ गए और एक-दूसरे पर पथराव किया। पुलिस को स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए आंसू गैस के गोले दागने पड़े। इसी तरह आणंद और साबरकांठा में भी तनाव की स्थिति बनी हुई है।

मध्य प्रदेश: खरगोन के तीन क्षेत्रों में कर्फ्यू लगाया गया है। इससे पहले रामनवमी के दिन दो समूहों के बीच हिंसक झड़पों के बाद पूरे शहर में सीआरपीसी की धारा 144 लागू कर दी गई थी। पुलिस ने कहा कि झड़पों के दौरान खरगोन के एसपी सहित कई लोग घायल हो गए। स्थिति को नियंत्रित करने के लिए उन्हें आंसू गैस के गोले दागने पड़े। पुलिस के अनुसार, रामनवमी का जुलूस खरगोन का चक्कर लगाने वाला था, लेकिन लाउडस्पीकर से संगीत बजाने को लेकर हुए विवाद के बीच उस पर कथित तौर पर पथराव किए जाने के बाद उसे बीच में ही छोड़ दिया गया।

पश्चिम बंगाल: शिबपुर इलाके में रामनवमी जुलूस के दौरान झड़प की खबरों के बाद हावड़ा में बड़ी संख्या में पुलिस अधिकारियों को तैनात किया गया है। पुलिस ने आश्वासन दिया है कि स्थिति नियंत्रण में है, साथ ही क्षेत्र में पर्याप्त सैनिकों को तैनात किया गया है। भाजपा के विधायक और पश्चिम बंगाल विधानसभा में विपक्ष के नेता सुवेंदु अधिकारी ने आरोप लगाया है कि जुलूस पर पुलिसकर्मियों ने हमला किया था।

झारखंड: लोहरदगा में भी रविवार को हिराही-हेंदलसो गांव में रामनवमी मेले के दौरान पथराव और आगजनी की घटनाओं के बाद हिंसा भड़क गई। इलाके में रामनवमी के जुलूस के दौरान कुछ लोगों ने भीड़ पर पथराव शुरू कर दिया, जिससे भगदड़ मच गई। आधा दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए, उन्होंने कहा कि मेले में कई मोटरसाइकिलों और एक पिकअप वैन में आग लगा दी गई।

एआईएमआईएम सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने रामनवमी पर हुई हिंसा की घटनाओं पर बयान दिया। बकौल ओवैसी, रामनवमी के जुलूस के दौरान भड़काऊ भाषण दिए गए और पुलिस की मौजूदगी में हिंसा भड़की है।

 

 

गुजरात के भरूच में केमिकल कंपनी में ब्लास्ट, 5 कर्मचारियों की मौत…दूर तक सुनी गई धमाके की आवाज