‘धर्म और धर्मांतरण कांग्रेस के लिए कोई मुद्दा नहीं’ : पीएल पुनिया

क्षेत्रीय

रायपुरः छत्तीसगढ़ कांग्रेस के प्रभारी पीएल पुनिया इन दिनों रायपुर में मौजूद हैं. यहां वह कांग्रेस कार्यकारिणी की बैठक लेंगे. इससे पहले मीडिया से बात करते हुए पीएल पुनिया ने धर्म और धर्मांतरण के मुद्दे पर भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि धर्म और धर्मांतरण कांग्रेस के लिए कोई मुद्दा नहीं है. उन्होंने कहा कि जनता को विकास के मुद्दों से भटकाने के लिए भाजपा धर्मांतरण की राजनीति शुरू कर देती है.

धर्म और धर्मांतरण के मुद्दे पर भाजपा कांग्रेस सरकार पर काफी हमलावर है. ऐसे में जब पीएल पुनिया से इस पर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि धर्म और धर्मांतरण, कांग्रेस के लिए कोई मुद्दा नहीं हैं. जब भाजपा को यह समझ आता है कि केंद्र सरकार ने कोई ऐसा काम नहीं किया, जिसे लेकर जनता के बीच जाया जाए तो वह धर्मांतरण की राजनीति शुरू कर देती है. जनता सब जानती है. निकाय चुनाव में इसका जवाब भी मिला है.

निकाय चुनाव में मिली जीत से उत्साहित कांग्रेस 2023 के विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुट गई है. इसे लेकर पीएल पुनिया 3 और 4 जनवरी को पार्टी के नेताओं से मुलाकात करेंगे और संगठन को मजबूत करने को लेकर चर्चा करेंगे. इन बैठकों में जिला, बूथ और पारा टोला स्तर तक पार्टी को मजबूत करने पर मंथन होगा. पीएल पुनिया ने बताया कि आज कार्यसमिति की बैठक आयोजित की गई है. मिशन 2023 के साथ ही आगे की कार्ययोजना और रणनीति पर विस्तार से चर्चा होगी. पार्टी की क्या चुनौतियां हैं और किस तरीके से पार्टी को मजबूत करना है, इस पर मंथन होगा.

बता दें कि छत्तीसगढ़ में आदिवासियों का धर्मांतरण होने की कई खबरें आती रही हैं. ऐसे में बीते दिनों भाजपा ने छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार पर हमलावर होते हुए आरोप लगाए थे कि वोटों के ध्रुवीकरण और चुनाव लाभ लेने के लिए कांग्रेस धर्मांतरण को संरक्षण दे रही है. भाजपा ने प्रदेश में तेजी से धर्मांतरण होने का आरोप लगाया और बघेल सरकार को घेरा. वहीं कांग्रेस ने इसे भाजपा का प्रोपेगैंडा करार दिया.