शरद पवार के घर के बाहर राज्य परिवहन कर्मचारियों का विरोध प्रदर्शन, सुप्रिया सुले ने हाथ जोड़कर समझाया

राष्ट्रीय

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के चीफ शरद पवार के मुंबई स्थित घर के बाहर राज्य परिवहन कर्मचारियों ने विरोध प्रदर्शन किया है. कर्मचारियों ने सरकार पर वादों को पूरा नहीं करने का आरोप लगाया है. कर्मचारियों के विरोध प्रदर्शन के दौरान सुप्रिया सुले ने उन्हें शांत करने की कोशिश की, लेकिन विरोध जारी रहा.

जानकारी के मुताबिक, राज्य परिवहन निगम के कर्मचारी मांग कर रहे हैं कि निगम का विलय राज्य प्रशासन में किया जाए. इसके अलावा उन्हें भी वही सुविधाएं दी जाएं जो राज्य सरकार अपने कर्मचारियों को देती है. बताया जा रहा है कि परिवहन कर्मचारियों की इस मांग पर एक कमेटी गठित की गई थी जिसमें कई मांगों को मान लिया गया था, लेकिन विलय की मांग को खारिज कर दिया गया था.

मांगों के न माने जाने के बाद राज्य परिवहन कर्मचारी हड़ताल पर चले गए थे और फिलहाल वे हड़ताल खत्म करने के मूड में नहीं हैं. राज्य परिवहन के कर्मचारियों के हड़ताल के चलते कई शहरों में लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. उधर, हड़ताल को लेकर बॉम्बे हाईकोर्ट ने कर्मचारियों को काम पर लौटने के लिए 15 अप्रैल तक का अल्टीमेटम दिया है. अगर ऐसा नहीं होता है तो निगम कर्मचारियों पर कार्रवाई कर सकती है.