अवैध धान पकड़ाए जाने पर एफआईआर की कार्रवाई करें : कलेक्टर

क्षेत्रीय

राजनांदगांव : कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा ने आज कलेक्टोरेट सभाकक्ष में धान खरीदी व्यवस्था, बारिश से सुरक्षा और धान के उठाव में तेजी लाने अधिकारियों एवं समिति प्रबंधकों की बैठक ली। कलेक्टर श्री सिन्हा ने कहा कि धान खरीदी प्रारंभ होने के बाद जिले में सुचारू रूप से धान खरीदी हो रही है। धान विक्रय के लिए सभी धान खरीदी केन्द्रों में समुचित व्यवस्था की गई है। जिससे किसान आसानी से अपना धान विक्रय कर रहे हंै। लगभग सभी छोटे किसानों ने अपने धान का विक्रय कर लिया है। शेष दिनों में बचे हुए सभी किसानों का धान क्रय कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि लगभग डेढ़ लाख किसानों ने 60 लाख क्विंटल धान का विक्रय कर लिया गया है। वहीं धान खरीदी केन्द्रों से धान का उठाव लगातार किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि धान खरीदी की अच्छी व्यवस्था लगातार जारी रहना चाहिए। अब तक लगभग सभी छोटे किसानों द्वारा धान का विक्रय किया जा चुका है। जिन किसानों ने अपने पूरे धान का विक्रय कर लिया है, उनका अभियान चलाकर रकबा समर्पण कराएं। धान खरीदी के शेष दिनों में कोचियों, बिचौलियों पर कड़ी निगरानी रखी जाए। धान खरीदी केन्द्र में अवैध धान नहीं आना चाहिए। अवैध धान पकड़ाए जाने पर एफआईआर की कार्रवाई करें। सीमावर्ती क्षेत्रों के चेक पोस्ट में कड़ाई से जांच की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि धान खरीदी केन्द्र में पर्याप्त संख्या में बारदाने उपलब्ध हैं। इन्हीं बारदाने से ही धान की खरीदी की जाए। किसानों द्वारा लिए गए बारदानों की राशि का भुगतान कर दिया गया है।

कलेक्टर श्री सिन्हा ने कहा कि पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से बारिश होने की संभावना है। सभी धान खरीदी केन्द्र में खरीदे हुए धान की स्टैकिंग बनाकर केप कव्हर से ढका जाएं। सभी अधिकारी धान खरीदी केन्द्रों पर निरीक्षण कर मानिटरिंग करें। उन्होंने कहा कि बारिश से धान को नुकसान नहीं होना चाहिए। धान की सुरक्षा के लिए डे्रनेज अनिवार्य रूप से बनाएं। सभी धान खरीदी केन्द्रों में केप कव्हर पर्याप्त संख्या में रहें। केन्द्र में पानी जमा नहीं होना चाहिए, निकासी की पर्याप्त व्यवस्था होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पहले उठाव करने वाले धान खरीदी केन्द्रों की सूची तैयार करें। जिससे उन धान खरीदी केन्द्रों से धान का उठाव पहले किया जा सके। नोडल अधिकारी द्वारा धान की सुरक्षा के लिए धान खरीदी केन्द्रों में जाकर व्यवस्था की मानिटरिंग करें। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण का फैलाव तेजी से हो रहा है। धान खरीदी केन्द्र में कोविड प्रोटोकाल का जरूर करें। धान खरीदी केन्द्र में प्रवेश के पहले अनिवार्य मास्क लगाने संबंधी पोस्टर चस्पा करें। किसानों को मास्क लगाने के लिए जागरूक करें। जिन किसानों ने कोविड टीका का दूसरा डोज नहीं लगाया है, उन्हें टीकाकरण के लिए प्रेरित करें। किसानों को समझाएं की कोरोना संक्रमण से बचने के लिए कोविड एप्रोप्रिएट बिहेवियर का पालन करना और टीका लगाना जरूरी है। स्वयं को सुरक्षित रहते हुए अपने परिवार को सुरक्षित रख सकते हैं। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ श्री लोकेश चंद्राकर, अपर कलेक्टर श्री सीएल मारकण्डेय, संयुक्त कलेक्टर श्रीमती इंदिरा देवहारी, एसडीएम राजनांदगांव श्री अरूण वर्मा, जिला खाद्य अधिकारी श्री भूपेन्द्र मिश्रा, महाप्रबंधक जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक श्री सुनील वर्मा सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे। विडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से विकासखंड स्तरीय अधिकारी एवं समिति प्रबंधक उपस्थित थे।