कबाड़ में खड़ी थी बस, शख्‍स ने बनाया ‘डेटिंग स्‍पॉट’!

रोचक

एक शख्‍स ने कबाड़ में खड़ी बस को एक सुंदर घर बना दिया है. घर बनने से पहले अगर किसी शख्‍स ने इस बस को देखा होता वो शायद ही इस बात पर यकीन कर पाता कि ऐसा भी हो सकता है क्‍या? लेकिन ये सच है..वहीं ये जगह इस शख्‍स के लिए वीकेंड में डेटिंग स्‍पॉट भी है. जहां शख्‍स अपनी गर्लफ्रेंड के साथ समय बिताता है.

‘द सन’ के मुताबिक, जिस शख्‍स ने बस को घर बना दिया है, उनका नाम ल्‍यूक व्‍हाइटकर है. उनकी उम्र 37 साल है.

बस के घर बनने की कहानी जान लीजिए, ल्‍यूक अपने होम टाउन में अपने माता पिता के साथ रहने फार्म पर चले गए थे. वह एक लंबे अर्से से किराया दे रहे थे, जिसे दे-देकर वह थक गए थे.

जैसे ही ब्रिटेन में कोरोना के कारण लॉकडाउन लगा ल्‍यूक के पिता जोए व्‍हाइटकर को भी ये लगा कि COVID-19 वायरस उनके घर में भी आ सकता है.

इसके बाद ब्रिटेन के Hereford शहर के एक स्‍क्रैपयार्ड (कबाड़) में खड़ी एक बस खरीद ली. जिसकी कीमत 1 लाख 29 हजार रुपए के करीब पड़ी. चूंकि बस का इंजन जाम था, ऐसे में इस बस को चलाया नहीं जा सकता था.

फिर ल्‍यूक ने इस बस के इंटीरियर पर 8 लाख 47 हजार से ज्‍यादा रुपए खर्च कर दिए. इनमें कई DIY (Do It Yourself) स्किल्‍स उन्‍होंने यूट्यूब से सीखीं और बस को मॉडिफाई कर डाला.

ल्‍यूक बस में अपने परिवार के साथ रहे और सोशल डिस्‍टैंसिंग का भी पालन किया. इसके अलावा उन्‍होंने वह पैसा भी बचाया, जो उन्‍हें किराये पर खर्च करना पड़ता था. ल्‍यूक दो महीने तक इस बस में रहे, ऐसे में उन्‍होंने करीब दो लाख रुपए भी बचा लिए‍.

ल्‍यूक ने बताया, ‘मैंने इस बस को खरीदने का फैसला पहले लॉकडाउन में किया था, मैं अपने पैरेंटस के घर में रहने चला गया और पैसे बचाने के इरादे से बस खरीद ली. मेरे पिता कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए काफी चिंतित थे. ऐसे में हमने सोचा कि हमें एक सुरक्षित जगह चाहिए, इस दौरान हमें बस मिल गई.’ इस बस को देखकर ही एक छोटा घर बनाने का आइडिया आया.

Bumble पर मिली गर्लफ्रेंड

जब ये बस बनकर करीब करीब आधी ही तैयार हुई थी, तभी ल्‍यूक की Bumble Dating App पर 33 साल की मीडिया प्रोड्यूसर निकिशा मैक्नितोंश से मुलाकात हुई. ऐसे में ल्‍यूक और उनकी गर्लफ्रेंड के लिए ये जगह डेटिंग स्‍पॉट भी बन गई. निकिशा ने भी बस में अंतिम स्‍टेज में कई चीजों में हाथ बंटाया. अब वह वीकेंड में ल्‍यूक के साथ बस में ही रुकती हैं.