मिलावटी दूध बेचने वाले को मिली उम्रकैद की सजा

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश के महाराजगंज जिले में मिलावटी दूध बेचने के मामले में 23 साल बाद कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया है. कोर्ट ने आरोपी ग्वाले को आजीवन कारावास और 20 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है. यह फैसला अपर सत्र न्यायाधीश रेखा सिंह की अदालत ने दिया है.

सहायक शासकीय अधिवक्ता सर्वेश्वर मणि त्रिपाठी ने बताया कि मामला 17 मई 1999 का है. यहां ऑफिसर गेट कॉलोनी के पास से तत्कालीन खाद्य निरीक्षक एमएल गुप्ता ने तीन ग्वालों से दूध का नमूना लिया था. दूध में मिलावट पाए जाने पर इस मामले में चौक थाना क्षेत्र के खजुरिया निवासी रामसजन के विरुद्ध मुकदमा दर्ज हुआ था.

मुकदमा दर्ज होने के बाद आरोप पत्र न्यायालय पहुंचा, जहां 23 वर्षों से मामला विचाराधीन चल रहा था. शुक्रवार को सुनवाई के दौरान सरकारी वकील द्वारा साक्ष्यों के साथ चार गवाहों की गवाही कराई गई. फिर कोर्ट ने आरोपी ग्वाले को आजीवन कारावास की सजा के साथ 20 हजार रुपये का जुर्माना लगाया.