सपा जॉइन करने वाले शख्स की कहानी, कद 8 फीट, ‘सेलिब्रेटी’ जैसी पहचान, कभी सीएम योगी से मांगी थी मदद

राष्ट्रीय

उत्तर प्रदेश चुनाव के बीच देश के सबसे लंबे व्यक्ति धर्मेंद्र प्रताप सिंह एक बार फिर सुर्खियों में हैं. उन्होंने हाल ही में समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की है. 46 वर्षीय धर्मेंद्र प्रताप सिंह की हाइट- 8 फुट 2 इंच है.

बता दें कि धर्मेंद्र प्रतापगढ़ (Pratapgarh) जिले के नरहरपुर कसियाही गांव के रहने वाले हैं. उनका नाम गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में दर्ज है. उन्हें एशिया के सबसे लंबे पुरुषों में से एक के रूप में भी जाना जाता है.

पढ़ाई-लिखाई की बात करें तो धर्मेंद्र प्रताप सिंह के पास मास्टर डिग्री है. हालांकि, 46 साल की उम्र में भी उनके पास कोई स्थाई नौकरी नहीं है. उनकी अभी शादी भी नहीं हुई है. धर्मेंद्र के करीबी लोगों ने बताया किया कि लंबी हाइट के कारण उनके कमर के ठीक नीचे में दर्द रहता है. उन्हें दिन-प्रतिदिन के कार्यों को पूरा करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है.

पूछने पर लखनऊ के एक डॉक्टर ने उन्हें ऑपरेशन की सलाह दी थी, लेकिन पैसों की कमी के चलते धर्मेंद्र अपना मुकम्मल इलाज नहीं कर सके. साल 2019 में उन्होंने मदद के लिए यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ का रुख किया था. वो सीएम योगी से आर्थिक मदद मांगने के लिए उनके आवास पहुंचे थे.

तब उन्होंने कहा- “मुख्यमंत्री मौजूद नहीं थे, लेकिन उनके कार्यालय ने मुझे मदद का आश्वासन दिया है.” बाद में उन्होंने 2019 में हिप रिप्लेसमेंट सर्जरी करवाई.

‘मिरर यूके’ के मुताबिक, धर्मेंद्र का मानना ​​है कि उनकी हाइट के कारण वह प्यार पाने के लिए संघर्ष कर रहे हैं. वो कहते हैं- “शादी के मामले में मेरी मुख्य समस्या हाइट है. किसी ऐसी लड़की को ढूंढना बहुत मुश्किल है जो मेरी लंबाई की हो. मुझे लगता है कि यह असंभव है. यही कारण है कि मेरी कोई गर्लफ्रेंड भी नहीं है.”

धर्मेंद्र प्रताप का कहना है कि कॉलेज में वो बहुत शर्मीले थे. अन्य लड़कों की तरह, उन्होंने कभी लड़कियों से बात करने की कोशिश नहीं की. हाइट की वजह से नौकरी मिलने में भी समस्या रही.

गौरतलब है कि धर्मेंद्र के परिवार के अधिकांश लोग सामान्य कद के हैं, उनके नाना 7 फीट 3 इंच के थे. बचपन में लोग धर्मेंद्र को ‘जिराफ़’ या ‘ऊंट’ जैसे नामों से चिढ़ाते थे.

पिछले हफ्ते धर्मेंद्र प्रताप सिंह सपा मुखिया अखिलेश यादव की मौजूदगी में उनकी पार्टी में शामिल हो गए. अब वो UP Election में सपा के लिए प्रचार करेंगे. धर्मेंद्र ने पिछले साल अप्रैल में, एक सहयोगी के लिए यूपी पंचायत चुनाव में भी प्रचार किया था.

धर्मेंद्र प्रताप ने रविवार को न्यूज एजेंसी से कहा- “मैं पार्टी को और अधिक ऊंचाइयों पर ले जाने और अपने विरोधियों के कद को बौना बनाने के लिए काम करूंगा.” उन्होंने आगे कहा- “पार्टी मुझे जो भी जिम्मेदारी सौंपेगी है, मैं उसका अपनी पूरी क्षमता से निर्वहन करूंगा. अगर पार्टी मुझे सपा प्रमुख अखिलेश ‘भैया’ का चुनाव प्रचार करने के लिए कहती है, तो मैं करहल भी जाऊंगा और उनके लिए वोट मांगूंगा.”

धर्मेंद्र ने कहा कि उन्होंने सपा में शामिल होने का फैसला इसलिए किया है क्योंकि यह पार्टी किसी के साथ भेदभाव नहीं करती है और सभी को साथ लेकर चलती है. यह पूछे जाने पर कि क्या वो विधानसभा चुनाव लड़ेंगे? धर्मेंद्र ने कहा कि यह सपा प्रमुख को तय करना है. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि अगर सपा प्रमुख मुझे टिकट देते हैं, तो मैं प्रतापगढ़ विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ना पसंद करूंगा.