रैपर पर भगवान की तस्वीर का हो रहा था विरोध, आपत्ति के बाद कंपनी ने मांगी माफी

रोचक

मल्टीनेशनल कंपनी नेस्ले ने चॉकलेट के रैपर पर भगवान की तस्वीर छापने को लेकर सोमवार को माफी मांग ली. इसके साथ ही कंपनी ने कहा कि वह इस तरह के सारे प्रॉडक्ट को मार्केट से वापस मंगा रही है.

नेस्ले के किटकैट ब्रांड चॉकलेट के रैपर पर भगवान जगन्नाथ की तस्वीर छापे जाने से विवाद शुरू हो गया था. कई यूजर ने Twitter पर तस्वीर साझा करते हुए आपत्ति व्यक्त की थी. आपत्ति जताने वालों ने कहा कि लोग चॉकलेट खाने के बाद रैपर सड़कों, नालियों या डस्टबिन में फेंक देते हैं. इस कारण कंपनी को रैपर से भगवान जगन्नाथ, भगवान बालभद्र और माता सुभद्रा की तस्वीर हटानी चाहिए.

नेस्ले ने इसका रिप्लाई करते हुए माफी की मांग की और बचे प्रॉडक्ट को मार्केट से वापस मंगाने का ऐलान किया. नेस्ले ने सफाई में कहा कि ट्रैवल ब्रेक पैक का उद्देश्य लोकल डेस्टिनेशंस की सुदंरता सेलिब्रेट करना है. इसी बात को ध्यान में रखते हुए पिछले साल ओडिशा के कल्चर को सेलिब्रेट करने का निर्णय लिया गया. इसके लिए यूनिक आर्ट Pattachitra की झलक दिखाने वाली डिजाइन का पैक पर इस्तेमाल किया गया.

कंपनी ने कहा कि रैपर पर लगी तस्वीर सरकार की टूरिज्म वेबसाइट से प्रेरित है. हम इस आर्ट और इससे जुड़े कलाकारों के बारे में अधिक जानने के लिए लोगों को प्रोत्साहित करना चाहते थे. हमारे पहले के ऐसे कैंपेन से साबित हुआ है कि कंज्यूमर ऐसी सुंदर डिजाइन को अपने पास संजोकर रखते हैं. हालांकि हम इस मामले की संवेदनशीलता को समझते हैं.

नेस्ले ने कहा कि अगर अनजाने में इस गलती से किसी की भावना आहत हुई है तो वह माफी मांगती है. कंपनी ने कहा कि उसने तत्काल प्रभाव से बाजार से ऐसे प्रॉडक्ट को हटाना शुरू कर दिया है. कंपनी ने कहा कि वह ऐसे पैकेट बाजार से वापस मंगा रही है.