Bulli bai ऐप केस में तीसरी गिरफ्तारी, मुंबई पुलिस ने उत्तराखंड से आरोपी को किया गिरफ्तार

राष्ट्रीय

Bulli bai ऐप केस में मुंबई की साइबर पुलिस ने तीसरी गिरफ्तारी की है. बताया जा रहा है कि पुलिस ने बुधवार को उत्तराखंड के रहने वाले मयंक रावल को गिरफ्तार किया है. रावल स्टूडेंट है और उसकी उम्र 21 साल है.

Bulli bai ऐप केस में मुंबई पुलिस ने इससे पहले मंगलवार को उत्तराखंड से ही श्वेता (19 साल) को गिरफ्तार किया था. श्वेता से पहले बेंगलुरु से 21 साल के विशाल कुमार झा को गिरफ्तार किया गया है.

मुंबई पुलिस का दावा है कि उत्तराखंड से गिरफ्तार श्वेता ही पूरे केस की मास्टमाइंड है. इसके अलावा इसी मामले में पुलिस ने विशाल कुमार झा को गिरफ्तार किया है. विशाल और श्वेता एक दूसरे को पहले से ही जानते थे. बताया जा रहा कि मुंबई पुलिस कमिश्नर हेमंत नागराले आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मामले का खुलासा कर सकते हैं.

क्या है मामला?

हाल ही में Bulli Bai नाम से एक ऐप सामने आया था. ऐप पर मुस्लिम महिलाओं को टारगेट किया जा रहा है. यहां उनके खिलाफ नफरत फैलाई जा रही है और गंदी बातें लिखी जा रही हैं. Bulli Bai ठीक उसी तरह बनाया गया है जैसे कुछ दिन पहले Sulli Deals बनाया गया था. Sulli deal को Github पर लॉन्च किया गया था, अब Bulli Bai को भी Github पर लॉन्च किया गया था. इस मामले में मुंबई पुलिस ने FIR दर्ज कर मामले की जांच शुरू की थी.

विशाल और श्वेता पर क्या हैं आरोप?

मुंबई पुलिस के अधिकारी Sulli Deals की घटना में भी विशाल की भूमिका की जांच कर रहे हैं, जो Bulli Bai ऐप से पहले 2021 में सामने आया था. इंजीनियरिंग के एक औसत छात्र विशाल की भूमिका एक विशेष समुदाय की महिलाओं की तस्वीरों को एडिट करना और फिर उन्हें ऐप पर अपलोड करना था. विशाल की पहचान पर ही श्वेता को गिरफ्तार किया गया.

कौन है श्वेता?

श्वेता को उत्तराखंड के उधमसिंहनगर से गिरफ्तार किया गया है. उसके पिता की कोरोना काल में मौत हो गई थी, जबकि मां की मौत कैंसर से हो गई थी. उसकी एक बड़ी बहन है, जबकि एक छोटी बहन और भाई स्कूल में हैं. श्वेता इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रही थी. मुंबई पुलिस की माने तो आरोपी युवती श्वेता सिंह कथित तौर पर नेपाल में स्थित एक सोशल मीडिया के मित्र के निर्देश पर काम कर रही थी.