PET,PPHT, PPT का टाइम टेबल जारी, इस बार नहीं देना होगी कोई भी फीस

क्षेत्रीय

छत्तीसगढ़ के अलग-अलग कॉलेज में एडमिशन के लिए अब एंट्रेंस एग्जाम शुरू होने जा रहे हैं। इसे लेकर व्यावसायिक परीक्षा मंडल ने एक टाइम टेबल भी जारी किया है। फिलहाल व्यवसायिक परीक्षा मंडल की तरफ से यह जानकारी दी गई है कि कितने जिलों में और किस तारीख को यह परीक्षा होगी। स्टूडेंट्स को अलग-अलग परीक्षाओं के हिसाब से उनके आवेदन के अनुरूप प्रवेश पत्र और एग्जाम सेंटर की जानकारी बताई जाएगी।

पहली बार राज्य सरकार के फैसले की वजह से इन सभी एग्जाम्स में स्टूडेंट्स को किसी भी तरह की फीस नहीं देनी होगी। व्यापमं की तरफ से जारी किए गए आदेश में भी इस बात का स्पष्ट उल्लेख है कि मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुरूप व्यवसायिक परीक्षा मंडल कि इन परीक्षाओं में भी किसी तरह की फीस नहीं देनी होगी। टेक्निकल एजुकेशन से जुड़ी इन परीक्षाओं के बाद प्रदेश के अलग-अलग संस्थानों में स्टूडेंट्स को रिजल्ट के मुताबिक एडमिशन मिलता है।

एक लाख के आसपास स्टूडेंट होंगे शामिल
व्यवसायिक परीक्षा मंडल की तरफ से जारी किए गए टाइम टेबल में छत्तीसगढ़ के अलग-अलग शैक्षणिक संस्थानों में होने वाली 8 तरह की परीक्षाएं हैं। जिसमें लगभग एक लाख के आसपास विद्यार्थियों के शामिल होने की उम्मीद है। इसमें पीईटी, पीपीएचटी B.Ed D.Ed जैसी परीक्षा में शामिल है।

मई से जून के बीच पूरी होंगी परीक्षाएं
व्यापमं द्वारा जारी तिथि के अनुसार प्री-इंजीनियरिंग टेस्ट (पीईटी) व प्री फॉर्मेसी टेस्ट (पीपीएचटी) आगामी 22 मई को आयोजित किया जाना प्रस्तावित है। यह परीक्षा राज्य के सभी 28 जिलों में आयोजित की जाएगी। बीई, बीटेक (इंजीनियरिंग), बीटेक डेयरी टेक्नोलॉजी, दाउ श्री वासुदेव चन्द्राकार विश्वविद्यालय दुर्ग, बीटेक एग्रीकल्चर इंजीनियरिंग, बीटेक फूड टेक्नोलॉजी, डिप्लोमा इन डेयरी टेक्नोलॉजी में प्रवेश लिया जाएगा।

वहीं प्री एमसीए व प्री पॉलिटेक्निक टेस्ट (पीपीटी) 29 मई को होना प्रस्तावित है। इसी तरह बीएससी कृषि, बीएससी उद्यानिकी, पशुपालन एवं डिप्लोमा एवं मात्स्यकी विज्ञान एवं डिप्लोमा पाठ्यक्रम में प्रवेश के लिए प्री एग्रीकल्चर टेस्ट (पीएटी) और प्री वेटनरी टेस्ट (पीवीपीटी) का आयोजन 5 जून को प्रस्तावित है। प्री बीएड व प्री डीएलएड परीक्षाएं 12 जून को आयोजित होंगी। वहीं प्री बीए बीएड तथा बीएससी बीएड के लिए प्रवेश परीक्षा 19 जून को प्रस्तावित किया गया है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ के मूल निवासी अभ्यर्थियों से छत्तीसगढ़ व्यावसायिक परीक्षा मंडल (छगव्यापमं) और छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग (CGPSC) द्वारा आयोजित की जाने वाली प्रवेश और भर्ती परीक्षाओं के लिए शुल्क नहीं लिए जाने की बात कही थी। मुख्यमंत्री की घोषणा पर अमल भी शुरू हो गया है।