सिरदर्द होने पर भी महिलाओं को नहीं खानी चाहिए पेनकिलर्स, हो सकते हैं ये साइड इफेक्ट्स

रोचक

सिरदर्द की समस्या काफी आम होती है और अधिकतर मामलों में ये समस्या पेनकिलर्स खाने से ठीक हो जाती है. महिलाओं में सिरदर्द की समस्या पुरुषों के मुकाबले काफी ज्यादा पाई जाती है. लेकिन क्या आप जानते हैं 30 से 40 साल की महिलाओं के लिए सिरदर्द होने पर पेनकिलर्स खाना काफी खतरनाक साबित हो सकता है.

अधिकतर सिरदर्द ऐसे होते हैं जो अपने आप ही ठीक हो जाते हैं और इसका शरीर पर कोई खतरनाक असर भी नहीं पड़ता. लेकिन कई बार सिरदर्द की समस्या काफी लंबे समय तक बनी रहती है. कुछ स्टडीज में यह बात सामने आई है कि लगभग 52 परसेंट लोगों को रेगुलर बेसिस पर सिरदर्द की समस्या का सामना करना पड़ता है.

बता दें कि सिरदर्द कई तरह के होते हैं जैसे माइग्रेन और टेंशन आदि के कारण. नेशनल हेल्थ सर्विस के मुताबिक, दुनियाभर में हर 5 में एक महिला और हर 15 में से 1 पुरुष को माइग्रेन की समस्या का सामना करना पड़ता है.

एक्सपर्ट ने चेतावनी दी है कि सिरदर्द और माइग्रेन की समस्या से छुटकारा पाने के लिए जो लोग पेनकिलर्स का सेवन करते हैं इससे उनकी यह समस्या और भी ज्यादा बढ़ सकती है. यह समस्या पेनकिलर्स का बहुत अधिक सेवन करने से होती है. ऐसा करना 30 से 40 साल की महिलाओं के बीच काफी आम है.

डॉ. मार्क पोर्टर ने बताया कि सिरदर्द की समस्या होने पर अक्सर लोग इबूप्रोफेन, पेरासिटामोल या कोडीन जैसी पेनकिलर्स का सेवन करते हैं. मार्क ने बताया कि ये पेनकिलर्स राहत देने के साथ ही समस्या को और भी ज्यादा बढ़ा भी सकती हैं. मार्क ने बताया कि पेनकिलर्स का अधिक मात्रा में सेवन करने से डिप्रेशन और एंग्जाइटी की समस्या काफी ज्यादा बढ़ सकती है.

उन्होंने कहा कि सिरदर्द की समस्या जेनेटिक भी हो सकती हैं लेकिन सिरदर्द का भले ही कोई भी कारण हो इसके लिए पेनकिलर्स का सेवन नहीं करना चाहिए. उन्होंने यह भी बताया कि सिरदर्द या माइग्रेन होने पर पेनकिलर्स ना लेने से कुछ दिन तक आपको काफी तकलीफ हो सकती है लेकिन ऐसा करने से आपको इस समस्या का बार-बार सामना नहीं करना पड़ेगा.

डॉ. मार्क ने कहा कि अगर आपको रेगुलर बेसिस पर सिरदर्द की समस्या का सामना करना पड़ता है तो आपको पेनकिलर्स के बजाय दूसरा कोई ऑप्शन ट्राई करना चाहिए, जैसे लो-डोज एंटी-डिप्रेसेंट या बीटा ब्लॉकर्स.

डॉ. मार्क ने बताया कि अगर आपको कभी-कभी सिरदर्द होता है तो यह चिंता का विषय नहीं है और पेनकिलर्स का सेवन ना करके कुछ ही समय में आप इससे छुटकारा पा सकते हैं लेकिन अगर आपको रेगुलर बेसिस पर सिरदर्द की समस्या का सामना करना पड़ता है तो यह किसी गंभीर बीमारी का संकेत हो सकता है, जिसके लिए आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए. डॉ. मार्क ने कहा अगर आपको सिरदर्द के अलावा बुखार, मसल्स पेन और वेट लॉस हो रहा है तो आपको जरूर डॉक्टर को दिखाना चाहिए.