महिला का काम सिर्फ टेक्स्ट मैसेजेस भेजना कमाई लाखो !

मनोरंजन

एक महिला ने टिकटॉक पर खुलासा किया है कि कैसे एक शख्स उसे डेढ़ लाख रुपये हर महीने देता रहा. ऐसा उसने 3 सालों तक किया. इसके बदले महिला को बस टेक्स्ट मैसेजेस भेजने होते थे. आखिर शख्स ऐसा क्यों करता था, खुद महिला ने इस बारे में एक वीडियो जारी कर बताया है. उसके वीडियो को 7.7 मिलियन से अधिक बार देखा जा चुका है.

‘मिरर यूके’ की खबर के मुताबिक, महिला का नाम बेली हंटर है और वह अमेरिका की रहने वाली है. बेली ने अपने टिकटॉक अकाउंट @xbaileyhunter पर एक वीडियो शेयर कर एक उम्रदराज शख्स द्वारा किए गए सभी लेन-देन का खुलासा किया है.

वीडियो में बेली हंटर ने बताया कि वह उस शख्स से तब मिली थी, जब वह Buffalo Wild Wings रेस्तरां में वेट्रेस का काम कर रही थी. शख्स उस समय एक कम उम्र की महिला के साथ डिनर कर रहा था. बेली ने उसे सुगर डैडी बताया.

वेट्रेस बेली ने शख्स और उसकी पार्टनर को डिनर सर्व किया. लेकिन 2,900 रुपये बिल के बदले शख्स ने उसको 7,400 रुपये टिप दी. साथ ही उसने अपना कार्ड भी वेट्रेस को दिया. जब कार्ड पर लिखे नंबर पर धन्यवाद देने के लिए बेली ने शख्स को संदेश भेजा तो उसने कहा- ‘तुम अद्भुत हो, तुम टिप के लायक हो, तुम आगे कब डिनर सर्व करोगी? मैं तब आऊंगा.’

कुछ और पैसे कमाने की संभावना से उत्साहित, बेली ने उस आदमी से कहा कि वह अगली बार भी वेट्रेस का काम कर रही होगी. और इस तरह बेली से उसका मेलजोल बढ़ता चला गया. बेली ने बताया शख्स ने मुझसे कहा- “जब भी हम टेक्स्ट करेंगे, किसी दोस्त की तरह करेंगे.” यानी प्यार भरी बातें. दोनों की बीच एक मैसेजिंग एप पर बात होने लगी. बेली के मुताबिक, शख्स बेहद सलीके और कैजुअली बात करता था. वह सिर्फ मैसेज करने और बात करने के बदले मुझे पैसे देता था.

बेली ने जब उससे अपनी आर्थिक स्थिति का जिक्र किया तो उस शख्स ने मदद की भी पेशकश की. ये सुनकर बेली को विश्वास नहीं हुआ. बकौल बेली हंटर वह मुझे बिना पूछे ही पैसे भेज देता था. तीन साल तक यह सिलसिला चलता रहा. बेली ने उसके पैसों से खूब शॉपिंग की. कई महंगे गिफ्ट भी शख्स ने बेली को दिए.

ये सिलसिला इंडियाना प्रांत छोड़ने से पहले 3 साल तक चलता रहा. तब तक हर महीने एक अच्छी खासी रकम शख्स बेली को देता रहा, वो भी सिर्फ मैसेजेस के बदले में. हालांकि, बेली ने उसके बाद ऐसी ही किसी दूसरे शख्स की तलाश की लेकिन उसके जैसा कोई और नहीं मिला.