World cup 2023 : भारत को फाइनल में 6 विकेट की हार का सामना करना पड़ा.. ऑस्ट्रेलिया ने छठी बार खिताब जीता

खेल

भारत को वर्ल्ड कप 2023 के फाइनल में 6 विकेट की करारी हार का सामना करना पड़ा है। रविवार को ऑस्ट्रेलिया ने छठी बार वनडे वर्ल्ड कप का खिताब जीता। इस हार ने भारतीय फैंस को 2003 वर्ल्ड कप फाइनल की याद दिला दी। 20 साल पहले कंगारुओं ने हमें जोहान्सबर्ग में 125 रन से हराया था।

अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में टीम इंडिया टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 240 रन पर ऑलआउट हो गई। 241 रन का टारगेट ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों ने 43 ओवर में 4 विकेट खोकर हासिल कर लिया।

ट्रैविस हेड ने 137 रन की शतकीय पारी खेली, जबकि मार्नस लाबुशेन ने नाबाद 58 रन बनाए। इससे पहले, मिचेल स्टार्क ने 3 विकेट झटके, जबकि कप्तान पैट कमिंस और जोश हेजलवुड को 2-2 विकेट मिले। ट्रैविस हेड प्लेयर ऑफ द मैच रहे।

रोहित बोले- हमने 20 से 30 रन कम बनाए
आज हमारा दिन नहीं था। लेकिन गेम-1 से जैसा हमने खेला, टीम की परफॉर्मेंस से खुश हूं। राहुल और विराट जब बैटिंग कर रहे थे तब हमें लगा कि 270 तक का स्कोर ठीक रहता। पारी खत्म होने के बाद ही लगा कि हमने 20 से 30 रन कम बनाए हैं। हेड और लाबुशेन की पार्टनरशिप ने मैच को हमसे दूर किया। हम जितनी कोशिश कर सकते थे, उतनी कोशिश की। पिच भी दूसरी पारी में बैटिंग के लिए आसान हो गई। हमें पता था कि पिच दूसरी पारी में अच्छी हो जाएगी, लेकिन हमने बैटिंग में निराश किया।

कमिंस बोले- हमने हमारा बेस्ट फाइनल के लिए बचा रखा था
कमिंस बोले- ‘हमने हमारा बेस्ट लास्ट मैच के लिए बचा कर रखा। हमने पूरे टूर्नामेंट में पहले बैटिंग की, आज सोचा कि दूसरी पारी में बैटिंग आसान होगी। पिच बहुत स्लो थी, हमने जितनी स्पिन सोची थी, उतनी स्पिन हुई नहीं। इस तरह के स्लो विकेट पर स्लोअर बॉल और बाउंसर का ही इस्तेमाल सही रहता है।

हम 300 के अंदर भारत को रोकना चाहते थे, 240 पर रोक कर हम खुश थे। मेडिकल टीम और सिलेक्टर्स के कारण ट्रैविस हेड खेल पाए। क्राउड शानदार था, भारत में क्रिकेट देखने का पैशन बेहतरीन है। ओपनर्स ने बेहतरीन परफॉर्म किया, शुरुआती 2 मैच हारने के बाद ट्रॉफी जीतना मुझे लम्बे समय तक याद रहेगा।